ब्राजील की तरह उत्तर प्रदेश में भी मशीनों से काटा जा रहा है गन्ना

231

संभल, उत्तर प्रदेश: नई टेक्नोलोजी अब भारत के गन्ना किसानों के लिए भी आसान हो गई है। खेतीबाड़ी में नई टेक्नोलोजी और आधुनिक मशीनों का इस्तेमाल करना अब भारत में भी आम होने लगा है। किसान भी अब अपने खेतों में बुवाई और कटाई के लिए आधुनिक मशीनों और नई तकनीकों का इस्तेमाल करने लगे हैं।

उत्तर प्रदेश के संभल जिले में भी गन्ना किसानों ने कटाई के लिए पारंपरिक मजदूरों की जगह अब बड़ी मशीनों का उपयोग करने लगे हैं। पहले पंजाब, महाराष्ट्र सहित कुछ ही राज्य के किसानों ने इस तकनीक का इस्तेमाल किया। अब यह पूरे भारत में पसरने लगा है। छोटे गांव के किसान भी इसे अपना रहे हैं। गन्ना किसान इसका स्वागत कर रहे हैं क्योंकि मशीन से कटाई मजदूरों के मुकाबले सस्ती है। मशीन से गन्ने की कटाई जहां 40 रुपए प्रति क्विंटल पड़ती है वहीं मजदूरों को इसके लिए 45 रुपए देना पड़ता है।

संभल के किसान नई मशीन से काफी खुश हैं। दरअसल पिछले साल इसका यहां प्रायोगिक इस्तेमाल हुआ था। किसानों में उससे काफी उत्साह था। यहां के असमोली इलाके के एक किसान गन्ना कटाई के लिए बड़ी मशीन खरीदी है। इस मशीन का पूरे गांव में इस्तेमाल हो रहा है। इस मशीन से एक एकड़ का गन्ना चार से पांच घंटे में आसानी से कटा जाता है।

भाकियू के जिला महासचिव चौधरी वीरेंद्र सिंह ने कहा कि उनके खेत में 13 बीघा का गन्ना कुछ ही घंटों में कट जाता है। उन्होंने कहा कि यहीं काम यदि हम मजदूरों से कराते तो लगभग पूरा महीना लगता। गांव के किसान इस मशीन को भाड़े लेकर अपने गन्ने कटवा रहे हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here