दक्षिण अफ्रीका में स्थानीय चीनी उद्योग को बढ़ावा देने की पहल

132

केपटाउन: दक्षिण अफ्रीका के व्यापार और उद्योग मंत्री अब्राहिम पटेल ने कहा है कि, खरीददारों ने स्थानीय चीनी उद्योग से चीनी खरीदने का फैसला किया हैं।देश के चीनी उद्योग का बढ़ते चीनी आयात के कारण दम घुट गया है, और चीनी अधिशेष के परिणामस्वरूप कीमतों में गिरावट आई है। चीनी उद्योग की स्थिति पर एक ऑनलाइन ब्रीफिंग में, मंत्री पटेल ने कहा, सभी स्टेकहोल्डर्स के बीच जो समझौता हुआ है, और वह यह है कि स्थानीय उपयोगकर्ता, खाद्य कंपनियां और साथ ही खुदरा विक्रेता, स्थानीय चीनी खरीदने के लिए प्रतिबद्ध होंगे। बदले में, स्थानीय चीनी उद्योग चीनी की कीमतें स्थिर रखने पर राजी हुआ है।

पटेल ने कहा कि, चीनी उद्योग के सामने कई वर्षों से चुनौतियाँ हैं, और ये चुनौतियाँ चीनी के आयात के बढ़ते स्तर के कारण निर्माण हुई हैं। विशेष रूप से क्वाज़ुलु नटाल जैसे प्रांत में, जहाँ चीनी किसानों को मामूली लाभ मिल रहा है, वहाँ बहुत बड़ी चुनौतियाँ हैं। उन्होंने कहा कि, व्यापार और उद्योग मंत्रालय चीनी क्षेत्र के लिए दीर्घावधि स्थिरता और लाभप्रदता सुनिश्चित करने के लिए एक मास्टरप्लान को अंतिम रूप दे रहा है। कृषि, भूमि सुधार और ग्रामीण विकास मंत्रालय का कहना है कि, दक्षिण अफ्रीका में पिछले दो दशकों में वार्षिक चीनी उत्पादन 2.75 मिलियन टन से घटकर 2.1 मिलियन टन तक सिकुड़ गया है। इस अवधि के दौरान गन्ना किसानों की संख्या में काफी गिरावट आई है, और चीनी उद्योग से संबंधित नौकरियों में 45 प्रतिशत की कमी आई है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here