चीनी मिल के गोदाम पर लगाया गया ताला

526

रोहटा: गन्ना किसानों के बकाए को लेकर गन्ना विभाग के अधिकारियों ने कड़ा रुख अपनाया है। उत्तर प्रदेश के बजाज शुगर मिल किनौनी के प्रबंधनों द्वारा किसानों के गत साल के 38 करोड़ रुपए नहीं चुकाने के कारण गन्ना विभाग के अधिकारियों ने चीनी गोदाम पर ताला लगा दिया और मिल प्रबंधन को चेताया कि जब तक वे किसानों के बकाये नहीं चुकाते, तब तक ताला लगा रहेगा और राज्य का गन्ना विभाग उनके साथ सख्ती बरतेगा।

गन्ना विभाग को बजाज शुगर मिल किनौनी के प्रबंधकों द्वारा किसानों के गत साल के 38 करोड़ रुपए न चुकाने की जानकारी मिली थी। विभाग ने सहकारी गन्ना विकास समिति मलियाना के सचिव श्रीपाल यादव के नेतृत्व में एक टीम बनाई और मामले की जांच करने के लिए भेजा। गत शुक्रवार को मौके पर पहुंची इस टीम ने मिल के सेल्स विभाग में पहुंचकर सारे रजिस्टर जांचे और उसके वेयरहाउस का भी निरीक्षण किया। टीम ने पाया कि मिल के प्रबंधकों ने किसानों के गत साल के 38 करोड़ रुपए बकाया नहीं चुकाया है। तलब करने पर मिल प्रबंधन ने इसे जनवरी 2020 के अंत तक इसे पूरा करने का आश्वासन दिया। टीम ने मिल प्रबंधन के इस आश्वासन को दरकिनार करते हुए मिल में गोदाम में ताला लगा दिया और आदेश दिया कि जबतक वे किसानों के 38 करोड़ रुपए नहीं चुकाते तबतक उत्तर प्रदेश का गन्ना विभाग उनके खिलाफ सख्ती से पेश आएगा। अपनी सफाई में बजाज शुगर मिल के इकाई प्रमुख केपी सिंह ने कहा कि वे चीनी की बिक्री के आधार पर किसानों के गन्ने का बकाया सतत चुकाया जा रहा है। मिल प्रबंधन की ओर से इसमें कोई कोताही नहीं बरती जा रही है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here