विशाखापत्तनम: लॉकडाउन के कारण गुड़ बाजार की रौनक़ चली गई

1046

विशाखापट्टनम: आंध्र प्रदेश में गुड़ सीजन समाप्त हो गया है, लेकिन लॉकडाउन ने देश के दूसरे सबसे बड़े गुड़ बाजार अनाकापल्ले में गुड़ की आपूर्ति बाधित कर दी। 22 मार्च से 14 अप्रैल तक गुड़ का बाजार बंद रहा। बाद में, सप्ताह में दो बार बाजार खुला, लेकिन पिछले सीजन की तुलना में गुड़ गांठ की आपूर्ति में कमी रही ।लॉकडाउन के कारण गुड व्यापारियों को शुरू में ओडिशा, झारखंड, पश्चिम बंगाल और कुछ अन्य राज्यों में परिवहन प्रतिबंध के कारण गुड़ की गांठ की आपूर्ति के लिए संघर्ष करना पड़ा था।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में प्रकशित खबर के मुताबिक, 15 अप्रैल और 20 मई के बीच 10.9 करोड़ रुपये से अधिक के कारोबार के साथ 2.18 लाख से अधिक गुड़ गांठ (3,271 टन) प्राप्त हुई। अनाकापल्ले बाजार को 2016-2017 में 146 करोड़ रुपये का 48,060 टन गुड़ मिला, जबकि 2017-18 में यह 35,498 टन (99 करोड़ रुपये) और 2018-19 में 33,509 टन (91 करोड़ रुपये) था। 2019-2020 में, अनकापल्ले बाजार को 78 करोड़ रुपये का 25,402 टन गुड़ मिला। लॉकडाउन के चलते गुड़ बनाने में देरी के कारण बाजार 6,000 से 7,000 टन से अधिक गुड़ प्राप्त करने में विफल रहा। व्यापारियों का कहना है की, हमें उम्मीद है कि त्योहारी सीजन में अन्य राज्यों से गुड़ की मांग बढ़ सकती है। अगर अनाकापल्ले गुड़ की मांग कम हो जाती है, तो हमें भारी नुकसान होगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here