ब्राजील में भी मंडरा रहा है टिड्डियों का खतरा

210

साओ पाऊलो: भारत के तरह ब्राजील और अर्जेंटीना पर भी टिड्डियों का खतरा मंडरा रहा है। इस खतरे को भांपते हुए दोनों देशों की सरकारें टिड्डियों के हमले की निगरानी कर रहे है। टिड्डियों का झुंड, जो एक दिन में 150 किमी (93 मील) की दूरी तय कर सकता हैं, पहले ही पैराग्वे से अर्जेंटीना की यात्रा कर चुके हैं और यह आशंका है कि ब्राजील और उरुग्वे अगले टार्गेट हो सकते हैं। ब्राजील सरकार ने किसानों को सचेत किया है कि, वे टिड्डियों के संभावित हमले के प्रति सतर्क रहें।

टिड्डियों का झुंड पैराग्वे में उत्पन्न हुआ और 21 मई को अर्जेंटीना में दाखिल हो गया। टिड्डियां पहले से ही अर्जेंटीना के सांता फे और फॉर्मोसा प्रांतों में दाखिल हुई हैं, जहां उन्होंने मकई, गन्ना, गेहूं और जई की फसलों को काफी नुकसान पहुंचाया है। टिड्डियों का झुंड वर्तमान में कोरिएंटेस प्रांत में है और वहां के अधिकारियों ने कहा कि, वे उनका असर कम करने में कामयाब रहे। टिड्डियों के झुंड की ब्राज़ील और उरुग्वे बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। अर्जेंटीना और आसपास के देश टिड्डियों के झुंड के लिए अजनबी नहीं हैं। हाल ही में, 2017 और 2019 में अर्जेंटीना में बड़े पैमाने पर टिड्डियों का हमला हुआ है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here