सहकारी चीनी मिलों में कर्मचारी भर्ती पर रोक

799

मुंबई: चीनी मंडी

महाराष्ट्र सरकार ने शुक्रवार को त्रस्त सहकारी चीनी मिलों को नई भर्तियां नहीं करने का निर्देश दिया है। चीनी आयुक्त शेखर गायकवाड ने राज्य में सहकारी चीनी मिलों के अधिकारियों और कर्मचारियों ‘स्टाफिंग पैटर्न’ तय करने के लिए चीनी निदेशक की अध्यक्षता में एक समन्वय समिति का गठन किया है। राज्य की अधिकांश चीनी मिलें आर्थिक रूप से खस्ती हालात में हैं, कई मिलें किसानों का एफआरपी भुगतान करने में भी विफ़ल रही है। इसलिए, राज्य सरकार ने सर्कुलर निकाला है कि, कोई भी सहकारी चीनी मिल किसी भी तरह की नौकरी भर्ती न करे।

आने वाले दिनों में मिलों के चुनाव होंगे, इसलिए, मिलों की प्रशासनिक लागतों को नियंत्रित करना आवश्यक बन गया है। जब तक राज्य में सहकारी चीनी मिलों का ‘स्टाफिंग पैटर्न’ तय नहीं होता है और यह सरकार द्वारा अनुमोदित नहीं होता है, तब तक राज्य में किसी भी सहकारी चीनी मिलों में किसी भी कर्मचारी की भर्ती नहीं की जाएगी। इस संबंध में, राज्य सरकार ने सभी संबंधित विभाग और चीनी मिलों को आदेश दिया कि इसे समयबद्ध तरीके से लागू किया जाए।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here