महाराष्ट्र: डिस्टिलरीज को दिसंबर तक सैनिटाइजर बनाने के लिए मिली अनुमती

200

मुंबई: मार्च में कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत में ही राज्य में लगभग 108 डिस्टिलरीज को हैंड सैनिटाइज़र बनाने के लिए विशेष अनुमति मिली थी, जिन्हें सैनिटाइजर उत्पादन को दिसंबर तक जारी रखने की अनुमति एफडीए द्वारा दी गई है। लॉकडाउन में ढील दिए जाने के बाद, सैनिटाइजर्स की मांग में तेजी आने के कारण राज्य एफडीए ने पिछले हफ्ते 31 दिसंबर तक सैनिटाइजर उत्पादन के लिए लाइसेंस के समयसीमा को बढ़ाया।

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के एक आदेश के बाद, एफडीए ने समयसीमा में बढ़ोतरी की है। वर्तमान में, 252 इकाईयां सैनिटाइजर बनाती है, जिसमें 108 डिस्टिलरी शामिल हैं। अप्रैल में राज्य में लगभग 80 लाख लीटर सैनिटाइजर की खपत हुई थी। मई का बिक्री का डेटा संकलित किया जा रहा है।

एफडीए के प्रमुख अरुण उन्हाले ने कहा कि, सैनिटाइजर गुणवत्ता नियंत्रण के लिए अब कड़ी निगरानी की जाएगी। जैसा कि अर्थव्यवस्था फिर से खुलेगी और अधिक लोग काम करने के लिए बाहर निकलेंगे हैं, सैनिटाइजर की मांग में वृद्धि होगी।

दिसंबर तक सैनिटाइजर बनाने के लिए मिली अनुमती यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here