महाराष्ट्र संभावित तीसरी कोविड -19 लहर से निपटने के लिए तैयार: स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे

142

मुंबई: महाराष्ट्र में सोमवार को डेल्टा प्लस संस्करण के 27 मामलों सहित 3,643 ताजा कोविड-19 संक्रमण दर्ज हुए, जबकि राज्य सरकार ने कहा कि, वह महामारी की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। नीति आयोग के आकलन के अनुसार, संभावित तीसरी कोविड -19 लहर में देशभर में हर दिन 400,000-500,000 मरीज मिल सकते हैं, और राष्ट्रीय स्तर पर 200,000 समर्पित गहन देखभाल इकाई (आईसीयू) बिस्तरों की आवश्यकता होगी।

हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा, हमने (मेडिकल स्टाफ की) रिक्त पदों को भरने, ऑक्सीजन का अधिकतम स्तर सुनिश्चित करने, अतिरिक्त बजट के साथ-साथ दवाओं को उपलब्ध कराने के लिए कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा, संभावित तीसरी लहर से किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

वी के पॉल की अध्यक्षता में नीति आयोग ने संभावित तीसरी लहर के लिए विभिन्न राज्यों में आईसीयू बेड की राज्यवार आवश्यकता का अनुमान लगाया है। उनके आकलन के अनुसार, उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक 33,000 आईसीयू बेड की आवश्यकता होगी, इसके बाद महाराष्ट्र में 17,865 और बिहार में 17,480 बेड की जरूरत होगी। गट क्लिनिक के निदेशक अमित मंडोट ने कहा कि, नागरिकों को तीसरी लहर को मात देने के लिए कोविड -19 उपयुक्त व्यवहार का पालन करना चाहिए। मंडोट ने कहा, नागरिकों को मास्क पहनकर, सामाजिक दूरी का पालन करते हुए और सामूहिक समारोहों में हिस्सा नहीं लेकर जिम्मेदारी से काम करना चाहिए। उन्होंने कहा, सरकार को टीकाकरण अभियान में तेजी लाने की जरूरत है क्योंकि इससे तीसरी लहर की संभावना कम हो जाएगी।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here