महाराष्ट्र: चीनी मिलें ऑक्सीजन निर्माण के लिए तैयार

274

मुंबई: कोरोना से संक्रमित रोगियों के इलाज के लिए चिकित्सा ऑक्सीजन की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए, महाराष्ट्र की चीनी मिलें ऑक्सीजन निर्माण के लिए तैयार हैं।

द हिंदू बिज़नेस लाइन में प्रकाशित खबर के मुताबिक, नेशनल फेडरेशन ऑफ कोआपरेटिव शुगर फैक्ट्रीज (NFCSF) के एमडी, प्रकाश नाइकनवरे ने कहा कि, covid -19 रोगियों के इलाज के लिए मेडीकल ऑक्सीजन की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए, महाराष्ट्र में चीनी मिलें ऑक्सीजन निर्माण के लिए तैयार हैं। यह महाराष्ट्र में मिलों द्वारा उठाया गया एक समयबद्ध कदम है। उन्होंने कहा की, लगभग 25 मिलें पहले से ही ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करने की प्रक्रिया में हैं और हम लगभग 60-70 चीनी मिलों पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं जिन्होंने आर्थिक रूप से बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। इन मिलों में से अधिकांश ग्रामीण क्षेत्रों में हैं और यहां चीनी मिलों से ऑक्सीजन की मांग पूरी की जा सकती है।

उन्होंने कहा, मिलों को ऑक्सीजन निर्माण के लिए डिस्टलरियों को संशोधित करना होगा। इसके अलावा, मिलों को इस बात का ध्यान रखना होगा कि इथेनॉल आपूर्ति की प्रतिबद्धताएं पूरी हों। ऑक्सीजन निर्माण के साथ, मिलें सामाजिक जिम्मेदारी निभा रही हैं। इसके अलावा, ऑक्सीजन निर्माण मिलों के लिए एक व्यावसायिक मॉडल हो सकता है। नाइकनवरे ने कहा कि, NFCSFअन्य राज्यों में चीनी मिलों के साथ ऑक्सीजन निर्माण पर चर्चा कर रहा है।

हाल ही में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार ने मिलों में ऑक्सीजन निर्माण पर चर्चा के लिए मिलरों की एक बैठक की थी। महाराष्ट्र में इस सीजन में पेराई शुरू करने वाली 190 चीनी मिलों में से 173 मिलों ने अपने पेराई कार्य बंद कर दिए हैं और 17 चीनी मिलें अभी भी काम कर रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here