मराठवाड़ा की पहली सहकारी चीनी मिल की होगी नीलामी

612

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

औरंगाबाद: चीनी मंडी

मराठवाड़ा की पहली सहकारी चीनी मिल की नीलामी शनिवार को की जाएगी। तेरणा मिल के कर्मचारीयों का भविष्य निर्वाह निधि मिल प्रबंधन द्वारा नहीं भरा गया था। 2008 से 2011 की अवधि में, बारह सौ कर्मचारियों के भविष्य निर्वाह निधि भुगतान में मिल प्रबंधन विफ़ल रहने के बाद, 2015 में सोलापुर के क्षेत्रीय भविष्य निधि कार्यालय ने मिल का अधिग्रहण किया गया था। अब मिल की नीलामी होने जा रही है। केंद्र सरकार की वित्त पोषित मेटल स्क्रॅप ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन (MSTC) को भविष्य निधि कार्यालय द्वारा नीलामी के लिए नियुक्त किया गया है।

उस्मानाबाद तालुका के ढोकी में तेरणा सहकारी चीनी मिल के रूप में मराठवाड़ा में पहली सहकारी चीनी मिल स्थापित की गई थी। तेरणा मिल के निदेशक मंडल ने क्षेत्रीय भविष्य निधि कार्यालय में 2008 से 2011 की अवधि के दौरान 12 सौ श्रमिकों के भविष्य निधि की किस्त जमा नहीं की है। इस फंड को तुरंत जमा करने के लिए, मिल की संपत्ति 2015 में मिल को अधिग्रहित किया गया था। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने सोलापुर सहायक आयुक्त से मुलाकात की और नीलामी प्रक्रिया को रद्द करने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here