केरल: मजदूरों की कमी के कारण गुड़ उत्पादन को लेकर गंभीर संकट

683

इडुक्की : कोरोना वायरस महामारी के कारण केरला की इडुक्की की प्रसिद्ध मारयूर गुड के सामने मजदूरों की कमी ने गंभीर संकट निर्माण किया है। कोरोना महामारी के कारण तमिलनाडु के मजदूरों ने पलायन किया है, जिसके कारण अप्रैल से फसल की कटाई और गुड़ के उत्पादन को काफी प्रभावित किया है।

मारयूर और कंथल्लूर गाँवों में 600 हेक्टेयर से अधिक भूमि पर गन्ने की खेती की जाती है। यहां के किसान तमिलनाडु के मजदूरों पर निर्भर हैं, और लॉकडाउन की घोषणा के बाद से, मजदूरों ने आना बंद कर दिया है। मारयूर में आमतौर पर गन्ने की कटाई रोटेशन में की जाती है, यदि एक खेत में कटाई की जाती है, तो उसके बाद पास के खेत में कटाई की जाती है। जिसके कारण मारयूर में पूरे वर्ष गुड़ का उत्पादन होता है। वर्तमान मजदूरों के संकट ने फसल कटाई की प्रक्रिया को प्रभावित किया है और अप्रैल में काटे जाने वाली फसल अभी भी खेतों में खड़ी हैं। अगर रोटेशन टूट गया है, तो किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here