चीनी मिल घोटाला मामले में मरियम नवाज ने मांगी जमानत

191

लाहौर: पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने गत सोमवार को लाहौर उच्च न्यायालय (एलएचसी) में मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जमानत की याचिका दर्ज कराई। खबरों के अनुसार मरियम ने अपनी जमानत अर्जी में चौधरी शुगर मिल मामले में याचिका मंजूर करने की गुहार लगाई है। मरियम पर इसी चीनी मिल में मनी लॉड्रिंग का आरोप लगा है।

उन्होंने याचिका में कहा है कि नेशनल एकाउंटिबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) ने कानून का उल्लंघन करके मुझे गिरफ्तार किया है। मैंने अपनी सारी संपत्तियों को घोषित किया हैं। मेरे खिलाफ राजनीति की जा रही है। पीएमएल-एन की ये हस्ती इस समय अपने चचेरे भाई यूसुफ अब्बास के साथ चौधरी चीनी मिल संदर्भ में न्यायिक रिमांड पर जेल में है।

प्रधान मंत्री के विशेष सहायक शहजाद अकबर ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि शरीफ परिवार ने मनी-लॉन्ड्रिंग और अपने शेयरों के अवैध हस्तांतरण के लिए चौधरी चीनी मिलों का इस्तेमाल किया था। जांच के दौरान यह पता चला कि मिल स्थापित करने के बहाने 15 मिलियन डॉलर का ऋण लिया गया था। विशेष सहायक ने दावा किया की यह ऋण प्राप्त करने से पहले ही स्थापित हो चुका था। उन्होंने कहा कि इस ऋण को कभी भी पाकिस्तान में हस्तांतरित नहीं किया गया जैसा कि स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के रिकॉर्ड द्वारा दिखाया गया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2008 में मिल के शेयरों के माध्यम से 7 मिलियन से अधिक मूल्य के शेयर पीएमएल-एन के उपाध्यक्ष मरियम नवाज को हस्तांतरित किए गए, जिसे बाद में वर्ष 2010 में यूसुफ अब्बास शरीफ को हस्तांतरित कर दिया गया था।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here