चीनी उद्योग को राहत: नई चीनी निर्यात नीति हो सकती है लागू

449

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

नई दिल्ली : चीनी मंडी

मोदी 2.0 सरकार चीनी अधिशेष को कम करने और चीनी उद्योग की चिंताओं को दूर करने के लिए एक नई चीनी निर्यात नीति लागू करने पर गंभीरता से विचार कर रही है। चीनी मिलों के लिए निर्यात से जुड़ी सब्सिडी योजना भी नई निर्यात नीति का बड़ा हिस्सा हो सकता है। यह भी पता चला है कि, पीएमओ इस नई नीति को बनाने के लिए केंद्रीय खाद्य मंत्रालय के साथ सीधे समन्वय कर सकता है। नई चीनी निर्यात नीति के प्रारूपण का कार्य बजट के बाद होने की उम्मीद है।

अधिशेष को कम करना प्रस्तावित नीति का उद्देश्य…
प्रस्तावित नीति का उद्देश्य अधिशेष को कम करना है। अगले सीझन में भारत में चीनी का उत्पादन रिकॉर्ड स्तर से तीन साल के निचले स्तर तक गिरने की आशंका है, क्योंकि देश के कुछ प्रमुख क्षेत्रों में सूखे से फसल बुरी तरह प्रभावित हुई हैं। यहां तक कि ‘आईसीआरए’ की नवीनतम रिपोर्ट भी बताती है कि, सीझन 2019 में रिकॉर्ड चीनी उत्पादन के बाद, महाराष्ट्र और कर्नाटक में सूखे के कारण आगामी चीनी सीजन 2020 में चीनी उत्पादन घट जाएगा। अपेक्षित गिरावट के बावजूद, चीनी की कीमतों पर दबाव जारी रहने की संभावना है। गन्ना उत्पादन को इथेनॉल निर्माण की ओर मोड़ने के लिए केंद्र द्वारा चीनी और निरंतर नीतिगत समर्थन को निर्यात करने की भारत की क्षमता चीनी उद्योग के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here