इस साल सामान्य रहेगा मॉनसून: मौसम विभाग की भविष्यवाणी

203

नई दिल्ली: भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि, इस साल मानसून मौसम के दौरान देश में सामान्य बारिश होगी। पूरे देश में मॉनसून बारिश औसत (एलपीए / पिछले दस वर्षों में दर्ज की गई औसत वर्षा) का 101 प्रतिशत होने की संभावना है। जब औसत वर्षा एलपीए के 96 से 104 प्रतिशत के बीच दर्ज की जाती है, तब मानसून को ‘सामान्य’ माना जाता है। इससे पहले, मौसम विभाग ने अनुमान लगाया था कि मानसून मौसमी बारिश एलपीए का 98 फीसदी रहने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर भारत में 92 से 108 प्रतिशत, दक्षिण भारत में 93 से 107 प्रतिशत, मध्य भारत में सामान्य से अधिक यानी 106 प्रतिशत से अधिक और पूर्व और उत्तर पूर्व भारत में सामान्य से कम ( 95 प्रतिशत) बारिश होने की संभावना है।

मौसम महानिदेशक ने मीडिया को बताया की, भारतीय उपमहाद्वीप में वार्षिक मानसून की शुरुआत, जो दो दिनों की देरी से हुई थी, 3 जून को केरल तट पर पहुंचने की उम्मीद है। उन्होंने कहा, मानसून के आने के लिए अब स्थिति में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। मानसून के प्रवेश के बाद अच्छी तरह से आगे बढ़ने की उम्मीद है। भारत के लगभग आधे खेत में सिंचाई नहीं है और यह चावल, मक्का, गन्ना, कपास और सोयाबीन जैसी फसलों को उगाने के लिए पूरी तरह से बारिश पर निर्भर है। पिछले महीने, ‘आईएमडी’ ने कहा था कि, इस साल मानसून औसत रहेगा, जिससे उच्च कृषि उत्पादन की उम्मीदें बढ़ रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here