देश में 50% से अधिक मिलों का पेराई सीजन खत्म: ISMA

247

नई दिल्‍ली: इंडियन शुगर मिल्स असोसिएशन (ISMA) के अनुसार, 2020-21 सीजन में देश में 503 चीनी मिलों ने पेराई शुरू की थी, इसमें से अब तक 282 मिलों ने पेराई बंद कर दी है। इस वर्ष 31 मार्च 2021 तक संचालित 221 मिलों की तुलना में, पिछले वर्ष इसी तारीख को 186 मिलें चल रही थीं। मिलों ने 31 मार्च 2021 तक कुल 277.57 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है, जबकि पिछले साल 31 मार्च 2020 तक 233.14 लाख टन उत्पादन हुआ था। इस साल उत्पादन लगभग 44.43 लाख टन बढ गया है।

महाराष्ट्र में, 31 मार्च 2021 तक चीनी का उत्पादन 100.47 लाख टन था, जबकि पिछले साल इसी अवधि में 59 लाख टन उत्पादन हुआ था। मिलों ने अब तक लगभग 961 लाख टन गन्ने की पेराई की है, जो कि राज्य के इतिहास में अब तक के सबसे अधिक है। इससे पहले 2017 में 954 लाख टन गन्ने की पेराई की गई थी। अब तक 113 मिलें राज्य में अपना पेराई कार्य बंद कर चुकी हैं और 76 चीनी मिलें चल रही हैं। पिछले सीजन में इसी तारीख को, पिछले साल संचालित 146 मिलों में से 28 मिलें चालू थी।

उत्तर प्रदेश में 120 चीनी मिलों ने 31 मार्च 2021 तक 93.71 लाख टन चीनी का उत्पादन किया हैं। अब तक 120 चीनी मिलों में से 39 चीनी मिलों ने पेराई कार्य बंद कर दिया है। इसकी तुलना में, पिछले वर्ष 113 मिलों ने पेराई मे हिस्सा लिया था और 31 मार्च 2020 तक 97.20 लाख टन चीनी का उत्पादन किया था।

कर्नाटक के मामले में, 31 मार्च, 2021 तक, 66 चीनी मिलों ने 41.39 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। इन 66 चीनी मिलों में से 65 मिलों ने परिचालन बंद कर दिया है और केवल 1 मिल ही चालू है। पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान, 63 चीनी मिलों ने 33.50 लाख टन चीनी का उत्पादन किया था, और 60 मिलों ने पेराई बंद कर दी थी और 3 मिलों की पेराई शुरू थीं। चालू सीजन में राज्य में लगभग 42.5 लाख टन चीनी का उत्पादन होने की उम्मीद है।

गुजरात ने 31 मार्च 2021 तक 9.15 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। इस साल संचालित होने वाली 15 चीनी मिलों में से 5 चीनी मिलों ने अपना परिचालन समाप्त कर दिया है। पिछले साल, 8 मिलों ने 31 मार्च, 2020 तक पेराई खत्म की थी और 8.50 लाख टन चीनी का उत्पादन किया था।

तमिलनाडु के मामले में, 26 चीनी मिलों ने 2020-21 सीजन में पेराई की शुरुआत की और इसी तारीख को 2019-20 सीजन में 24 चीनी मिलों द्वारा उत्पादित 4.70 लाख टन की तुलना में 5.08 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। शेष राज्यों आंध्र प्रदेश और तेलंगाना, बिहार, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़, राजस्थान और ओडिशा ने सामूहिक रूप से 31 मार्च, 2021 तक 27.77 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here