मुंबईकरों में दिखा 26 जुलाई, 2005 का खौफ; भारी बारिश से डूबा शहर

296

मुंबई में शुक्रवार और शनिवार को हो रही तेज़ बारिश ने 26 जुलाई, 2005 के मानसून के प्रकोप की यादें ताज़ा कर दी है। ठीक 14 साल बाद बारिश ने मुंबई के कई हिस्सों में जलभराव और ट्रैफिक की समस्या पैदा कर दी और उड़ान में भी देरी हुई है। आपको बता दे ठीक 14 साल पहले भारी बारिश ने मुंबई में तबाही मचाई थी और कई लोगों ने अपनी जान भी गंवाई थी।

शहर में एक ही दिन में 944 मिमी बारिश हुई, जो सामान्य से ज्यादा है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार अगले कुछ घंटों के दौरान ठाणे, रायगढ़ और मुंबई के जिलों में बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

मुंबई हवाई अड्डा के प्रवक्ता ने बताया कि मुंबई हवाई अड्डे से 17 उड़ानों का मार्ग परिवर्तित कर समीप के हवाई अड्डों पर भेजा गया और चार उड़ानों को उतरने से पहले काफी देर हवा में ही चक्कर लगाने पड़े। बारिश की वजह से वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे की रफ्तार बुरी तरह से प्रभावित हुई है। आम दिनों में भी जहां ट्रैफिक के रेंगने की स्थिति होती है, बारिश के चलते हालात और बदतर हो गए हैं।

BMC ने किसी भी आपात स्थिति के लिए अपना हेल्पलाइन नंबर ‘1916’ एलान किया है और कहा कि आईएमडी ने “रात में तेज आंधी के साथ भारी बारिश की आशंका जताई है”

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here