मुंबई में बाढ़ से 10 साल में 14,000 करोड़ का नुकसान

140

मुंबई: देश भर में बेहतर कृषि के लिए और चिलचिलाती गर्मी से राहत पाने के लिए अच्छी बारिश का इंतजार किया जाता है, लेकिन मुंबई में, पिछले कई वर्षो में भारी बारिश ने चौतरफा तबाही मचाई है। इस साल भी शहर को बड़ा नुकसान हुआ है।

यूएसटीडीए और केपीएमजी की रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई में 2005 से 2015 के बीच बारिश के कारण 14,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है, इसके अलावा पिछले 10 वर्षों में 3000 से अधिक लोगों की जान गई है। मुंबई में बारिश ने कहर बरपाया है जिससे तबाही के साथ साथ ट्रेन और हवाई यातायात भी प्रभावित हुआ है।

इस साल, महालक्ष्मी एक्सप्रेस ट्रेन बाढ़ की चपेट में आ गई थी, और एनडीआरएफ की टीम ने फंसे हुए यात्रियों को बचाने के लिए कड़ी मशक्कत की। महाराष्ट्र के कई इलाकों में बाढ़ आई थी और बहुत सारी पुरानी इमारतें ढह गईं, जिससे करोड़ों रुपये का नुक्सान हुआ है।

हालही पूरे भारत में भारी बारिश से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हुआ था। बाढ़ के कारण, राजस्थान, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, केरल, गुजरात और अन्य राज्यों में स्थिति गंभीर बनी हुई थी, जहां हजारों व्यक्तियों की मौत हो गई थी। बाढ़ से न केवल जीवन को नुक्सान हुआ, बल्कि इसने हजारों करोड़ रुपये की संपत्ति, फसलों और अन्य को भी नुकसान पहुंचाया है। अकेले महाराष्ट्र में हज़ारो करोड़ रुपये का नुकसान उद्योगों के बंद होने, फसलों के गंभीर नुकसान, और अन्य के कारण हुआ है।

रिपोर्ट के मुताबिक, 1953 और 2016 के बीच बाढ़ में लगभग 8 करोड़ घर बाढ़ में नष्ट हो गए हैं और 1 लाख से अधिक लोग मारे गए हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here