कर्नाटक: मायशुगर फैक्ट्री अगस्त में अपना परिचालन फिर से शुरू करेगी

118

मांड्या : मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि, भाजपा सरकार मांड्या जिले के विकास के लिए प्रतिबद्ध है, और दो नई लिफ्ट सिंचाई परियोजनाएं (एक बुकनकेरे में ₹ 265 करोड़ की लागत से और दूसरी संथेबचहल्ली में ₹ 212 करोड़ की लागत से) शुरू की जाएगी। बोम्मई ने कहा कि, मायशुगर फैक्ट्री अगस्त में अपना परिचालन फिर से शुरू करेगी और इस संबंध में सभी व्यवस्थाएं की गई हैं। सरकार ने मांड्या में मिल को फिर से शुरू करने के लिए पैसा दिया और वह अगले महीने से क्षेत्र के किसानों द्वारा आपूर्ति किए गए गन्ने की पेराई शुरू करेगी।

उन्होंने कहा कि, केआर पेट तालुक में 11 झीलों को भरने के लिए पहले ही 25 करोड़ रुपये आवंटित किए जा चुके हैं। बोम्मई ने कहा कि के.आर.पेट जल जीवन मिशन के तहत तालुक के हर घर में पीने के पानी की आपूर्ति के लिए तालुक को लगभग 420 करोड़ रुपये मिलेंगे। मिशन के तहत पहचाने गए तीन तालुकों में से, के.आर. पेट को बड़ी सहायता मिल रही है।मांड्या में सिंचाई नहरों के

आधुनिकीकरण का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि, कावेरी और हेमवती नदियों से पानी लेने वाली सिंचाई नहरों का प्राथमिकता के आधार पर आधुनिकीकरण किया जाएगा। हेमवती और वाम तट नहर के आधुनिकीकरण का काम जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा। बोम्मई ने कहा, उनकी सरकार किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है।

इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस.येदियुरप्पा, सिंचाई मंत्री गोविंद करजोल, मांड्या जिले के प्रभारी मंत्री के. गोपालैया, रेशम उत्पादन, खेल मंत्री के.सी. नारायण गौड़ा, राजस्व मंत्री आर. अशोक, समाज कल्याण और पिछड़ा वर्ग मंत्री श्रीनिवास पुजारी और अन्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here