म्यांमार: किसानों का गन्ने से अन्य लाभदायक फसलों की ओर रुख

247

यंगून: म्यांमार के कृषि विभाग द्वारा चीनी मिलों से गन्ना खरीद कीमत तय करने के लिए कहा गया है, जिसके चलते मिलें दिसंबर से शुरू होनेवाले गन्ना पेराई सीजन में K40,000 प्रति टन के हिसाब से गन्ना खरीदेंगे। लेकिन म्यांमार शुगर एंड केन उत्पाद संघ के उपाध्यक्ष यू विन हेटे ने कहा कि, गन्ना किसानों को केवल तभी लाभ होगा, जब उन्हें प्रति टन K45,000 का भुगतान किया जाता है। म्यांमार में 4 मिलियन एकड़ से अधिक गन्ने के बागान हैं और मिलों को इस सीजन में लगभग 4.2 मिलियन टन गन्ने की खरीद का अनुमान है। दूसरी तरफ चीनी मिलें थाई और भारत से आयातित चीनी से बढ़ती प्रतिस्पर्धा को देखते हुए, अपनी लागत को कम करने के लिए चीनी के खरीद मूल्य को कम कर रही हैं।

यू विन हेवे ने कहा की, स्थानीय चीनी मिलें आयातित चीनी से केवल तभी प्रतिस्पर्धा कर सकती हैं, यदि गन्ना K45,000 या उससे कम प्रति टन पर खरीदा जाता है। किसान नुकसान से बचने के लिए गन्ना लगाना बंद करने की योजना बना रहे हैं। किसानों ने अन्य फसलों पर स्विच करना शुरू कर दिया है। तगांग बस्ती में, जो मांडले और सागिंग की सीमा पर है, 5000 से अधिक की तुलना में केवल 2000 किसान अभी भी गन्ने की खेती कर रहे हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here