चीनी मिल घोटाले में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की मुश्किलें बढ़ी

179

लाहौर / इस्लामाबाद: राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NAB) लाहौर ने पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के खिलाफ चौधरी शुगर मिल मामले में जांच शुरू की है। खबरों के मुताबिक, ब्यूरो ने उन्हें जेल में एक प्रश्नावली भेजी थी। कोट लखपत जेल के अधीक्षक ने उसे नवाज शरीफ को सौंप दिया। सूत्रों ने कहा कि, विदेश से टेलीग्राफिक ट्रांसफर (टीटी) नवाज शरीफ को उनके खाते में मिला था और एनएबी ने उनसे टीटी और संपत्ति का ब्योरा मांगा है।

8 अगस्त को एनएबी की टीम ने लाहौर की कोट लखपत जेल के बाहर मरियम नवाज को चौधरी शुगर मिल मामले में पेशी में अनुपस्तिथि के कारण हिरासत में लिया था। मरियम नवाज़ चीनी मिलों में विदेशी निवेश की जांनकारी देने में असमर्थरही है। वह शेयरों की खरीद के लिए आय के स्रोत के बारे में ब्यूरो को संतुष्ट करने में भी विफल रही है । मरियम को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अरेस्ट किया गया। NAB ने यह भी दावा किया है कि तीन विदेशियों ने मरियम नवाज़ के नाम पर करोड़ों रुपये के 11000 शेयर हस्तांतरित किए है।

बता दें कि जनवरी 2018 में पाकिस्तानी सरकार की आर्थिक निगरानी इकाई ने चौधरी शुगर मिल में भ्रष्टाचार की रिपोर्ट दर्ज की थी। रिपोर्ट के अनुसार चीनी मिल में अरबों रुपये का संदिग्ध लेनदेन किया गया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here