गलती से भी चीनी मिल शुरू न करें : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

2404

चीनी उद्योग चीनी की अधिशेष से जूझ रहा है और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का मानना है कि इथेनॉल उत्पादन चीनी मिलों की वित्तीय स्थिति को मजबूत करेगा और साथ ही साथ चीनी अधिशेष को भी कम करने में मददगार साबित होगा।

गडकरी ने चीनी उद्योग को सचेत किया की गलती से भी नयी चीनी मिल शुरू न करें, क्योंकि वे बुरी हालत में हैं।

चीनी उद्योग की वर्तमान स्थिति पर बोलते हुए, उन्होंने कहा कि चीनी मिलें अपनी आर्थिक स्तिथि को बनाए रखने के लिए संघर्ष कर रहे हैं क्योंकि वे अच्छी स्थिति में नहीं हैं।

इथेनॉल उत्पादन पर जोर देते हुए गडकरी ने 4 जुलाई को लोकसभा में कहा, “चीनी मिलों को अब चीनी के उत्पादन के बजाय इथेनॉल के निर्माण पर ध्यान देना चाहिए।”

प्रश्नकाल के दौरान, गडकरी ने कहा, “गलती से भी चीनी मिल शुरू न करें। वे बुरी हालत में हैं। ”

हाल ही में, महाराष्ट्र के चीनी आयुक्त, श्री शेखर गायकवाड़ ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस को राज्य में गन्ने के रस से इथेनॉल उत्पादन को बढ़ावा देने और सरकार से समर्थन के अनुरोध का प्रस्ताव पेश किया था।

उन्होंने उन चीनी मिलों के लिए, 500 करोड़ रुपये के फंड की भी वकालत की थी जो या तो इथेनॉल उत्पादन सुविधा स्थापित करना चाहते है या वर्तमान में विस्तार करना चाहते है।

देश में चीनी मिलें कम चीनी कीमत, अधिशेष चीनी स्टॉक, और गन्ना बकाया जैसे मुद्दों का सामना कर रही है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here