नो एंट्री: कोल्हापुर में गन्ने से लदे वाहनों पर रोक

230

कोल्हापुर: चीनी मंडी

जिले में गन्ना पेराई सत्र की शुरुआत के साथ, कई किसानों ने खेतों से मिलों तक गन्ना ढुलाई शुरू कर दि है। गन्ने से लदे ट्रक, ट्रैक्टर और बैलगाड़ी के कारण कोल्हापुर शहर की यातायात पर गंभीर असर पड़ रहा है। इस बात को ध्यान में रखते हुए, पुलिस अधीक्षक अभिनव देशमुख ने गन्ना से लदे वाहनों को शहर में सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक प्रवेश करने से मना कर दिया है। आमतौर पर ट्रक, ट्रैक्टर और बैलगाड़ी का उपयोग गन्ना परिवहन के लिए किया जाता है।गन्ना पेराई सत्र के चलते शहर में वाहनों के आवागमन को सुनिश्चित करने के लिए गन्ने से लदे वाहनों को प्रतिबंधित करने का निर्णय लिया गया है। पुलिस ने ट्रांसपोर्टरों को निर्देश दिया है कि, वे गन्ने को खेतों से मिलों तक ले जाने के लिए यातायात विभाग द्वारा सूचीबद्ध वैकल्पिक मार्गों का उपयोग करें।

कोल्हापुर शहर कृषि भूमि से घिरा हुआ है, जिसमें किसान गन्ने की खेती बड़े पैमाने पर करते हैं। जिले में कई चीनी मिलें स्थापित की गई हैं और किसानों को उपज जमा करने के लिए मिलों तक जाना पड़ता है। यातायात शाखा द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार, राजाराम सहकारी चीनी मिल में जाने वाले गन्ने से लदे वाहनों को तारारानी चौक, तावड़े होटल, राष्ट्रीय राजमार्ग 4 पर ले जाना होगा और कसबा बावडा में प्रवेश करके मिल में जाना होगा। गगनबावड़ा, राधानगरी और गारगोटी से राजाराम चीनी मिल जाने वाले वाहनों को फुलेवाड़ी नाका, नया वाशी नाका, कलंबा से साइबर चौक, फिर तारारानी चौक, हेड पोस्ट ऑफिस और एसपी ऑफिस होते हुए मिल जाएंगे।

डी. वाई. पाटिल और कुंभी- कासारी चीनी मिलों में गन्ना ले जाने वाले वाहनों को तारारानी चौक, साइबर चौक से फुलेवाड़ी नाका तक का सफर करना होगा और आगे बढ़ना होगा। बिदरी चीनी मिल जाने वाले वाहनों को तारारानी प्रतिमा से साइबर चौक से कलांबा की ओर जाना होगा और आगे बढ़ना होगा। भोगावती चीनी मिल की ओर जाने वाले वाहनों के लिए, उन्हें तारारानी चौक से साइबर चौक से नई वाशी नाका का मार्ग लेना होगा और आगे बढ़ना होगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here