भारत और नेपाल के संबंधों में मिठास घोलेगी भारतीय चीनी

लखनऊ: नेपाल के साथ चल रहे सीमा विवाद के बीच दोनों देशों के बीच बढ़ी खटास में भारतीय रेलवे ने मिठास घोलने की पहल की है। उत्तर रेलवे द्वारा पहली बार, नेपाल में पाँच रेक में 8,700 टन चीनी भेजी गई। यह खेप उत्तर रेलवे द्वारा बिजनौर, मुरादाबाद और बरेली से भेजी गई। इसके अलावा बड़ी मात्रा में ऑर्गेनिक खाद भी पश्चिम बंगाल भेजी गई है।

उत्तर और उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने कहा, जोनल और मंडल स्तर पर व्यावसायिक विकास इकाइयों की स्थापना के फैसले से अब परिणाम सामने आए हैं। चौधरी ने कहा, नेपाल के लिए चीनी की खेप भारत और हिमालयी राज्य के बीच संबंधों को मजबूत और मधुर करेगी, जबकि जैविक खाद पश्चिम बंगाल के चाय बागान में मदद करेगी।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने भी इसको लेकर ट्ववीट किया। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, “भारत और नेपाल के बीच निर्यात को एक नया आयाम देते हुए भारतीय रेल द्वारा नेपाल के बीरगंज के लिये बिजनौर, मुरादाबाद, और बरेली से लगभग 8,700 टन चीनी का परिवहन किया गया। किसानों की आय को दोगुना करने के PM @NarendraModi जी के लक्ष्य की दिशा में यह एक बड़ा कदम है #MoveItLikeRailways”

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

Image courtesy of Twitter.com/RailwayNorthern

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here