उत्तर प्रदेश गन्ना शोध परिषद के सेवरही एवं मुजफफरनगर केन्द्रों पर जैव उत्पादों का वृहद स्तर पर किया जायेगा उत्पादन: संजय भूसरेड्डी

130

लखनऊ: प्रदेष के अपर मुख्य सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग, श्री संजय आर. भूसरेड्डी की अध्यक्षता में उ.प्र. गन्ना शोध परिषद, शाहजहॉपुर की समीक्षा बैठक गन्ना आयुक्त कार्यालय, लखनऊ के सभागार में सम्पन्न हुयी। समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव द्वारा उ.प्र. गन्ना शोध परिषद स्तर पर प्रचलित अनुषासनिक कार्यवाहियों, लम्बित वादों, सेवानिवृत्त कार्मिकों की देयताओं, जैव उत्पादों के उत्पादन एवं अभिजनक बीज उत्पादन कार्यक्रम आदि की प्रगति से सम्बन्धित बिन्दुओं पर गहन समीक्षा की गयी।

समीक्षा बैठक के दौरान अपर मुख्य सचिव द्वारा गन्ना शोध परिषद के निदेषक, एवं वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देष दिये गये कि प्रदेष के गन्ना किसानों की सुविधा हेतु उ.प्र. गन्ना शोध परिषद, शाहजहॉपुर की तर्ज पर गन्ना शोध परिषद, सेवरही एवं गन्ना शोध परिषद, मुजफ्फरनगर केन्द्र पर भी जैव उत्पाद, ट्राइकोडर्मा, वाबेरिया, बैसियाना, मेटाराइजियम एनीसोपली, आर्गेनोडीकम्पोजर के साथ-साथ ट्राइकोकार्ड, एजोटोबैक्टर एवं पी.एस.बी का उत्पादन किया जाय।

श्री भूसरेड्डी ने सेवानिवृत्त कर्मचारियों के देयकों का भुगतान न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए त्वरित भुगतान करने के निर्देष दिये साथ ही निर्देषित किया कि कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति की तिथि से पूर्व सभी औपचारिकतायें पूर्ण कर सेवानिवृत्ति के दिन उनके समस्त देयकों का भुगतान कर दिया जाय। समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव ने यह भी निर्देषित किया कि मा. न्यायालय में दाखिल जिन वादों में कर्मचारियों का अनुतोष पूरा हो चुका है उन मामलों में लंबित वादों को समाप्त कराया जाय।

किसानों को नवीन गन्ना किस्मों का बीज त्वरित गति से उपलब्ध कराने हेतु अपर मुख्य सचिव ने समीक्षा बैठक के दौरान यह भी निर्देषित किया कि बीज संवर्धन की नवीन तकनीकी यथा टिष्यू कल्चर आदि अपनाकर तीव्र गति से संवर्धन किया जाय, जिससे कि अधिक से अधिक किसानों को बीज उपलब्ध हो सके। उन्होंने शोध परिषद के वैज्ञानिकों से कहा कि सभी शोध कार्य किसान हितपरक होने चाहिए जिससे की प्रदेष के किसानों को नवीन तकनीकी उपलब्ध हो सके और लागत कम करके उपज में वृद्वि की जा सके। बैठक में उ.प्र. गन्ना शोध परिषद, शाहजहांपुर के निदेषक डा.जे.सिंह, अपर गन्ना आयुक्त श्री वाई.एस.मलिक, श्री वी.के.शुक्ला., श्री आर.पी. यादव एवं उ.प्र. गन्ना शोध परिषद के समस्त वैज्ञानिक उपस्थित रहे।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here