NSE और BSE ने कार्वी ब्रोकिंग का लाइसेंस किया ससपेंड

143

मुंबई: नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (एनएसई) ने सोमवार को एक्सचेंज और सिक्योरिटीज और एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) के मानदंडों का पालन नहीं करने के कारण कार्वी स्टॉक ब्रोकिंग लिमिटेड के सभी कारोबार के लिए लाइसेंस निलंबित कर दिया। एनएसई के अलावा, बीएसई, मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) और एमएसईआई ने भी ब्रोकरेज फर्म का लाइसेंस निलंबित कर दिया है। यह कार्रवाई 22 नवंबर सेबी के आदेश का पालन करती है, जिसने अपने प्रारंभिक निष्कर्षों में कहा था कि, ब्रोकरेज फर्म कार्वी ने ग्राहक सिक्यूरिटिज / प्रतिभूतियों का दुरुपयोग किया था और इसका इस्तेमाल अन्य उद्देश्यों के लिए किया था। कार्वी ने ग्राहकों की सिक्यूरिटिज / प्रतिभूतियों को बेच दिया था और आय को संबंधित अन्य व्यवसायों में स्थानांतरित कर दिया था, जैसे की कार्वी रियल्टी लिमिटेड।

दो हजार करोड़ रुपए के क्लाइंट फंड डिफॉल्ट की वजह से सेबी ने पिछले दिनों कार्वी को बैन कर दिया था। नए ग्राहक जोड़ने और पुराने ग्राहकों के लिए सौदे करने पर रोक लगा दी गई थी। कार्वी पर ग्राहकों की रकम के दुरुपयोग का आरोप है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की जांच के आधार पर सेबी ने कार्वी पर कार्रवाई की।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here