उस्मानाबाद : पेराई सत्र का आगाज, किसानों द्वारा दर घोषित करने की मांग…

4184

उस्मानाबाद : जिले की अधिकांश चीनी मिलों में आगामी पेराई सीजन की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है। इस साल इथेनॉल उत्पादन पर जोर दिया है। हालांकि, गन्ना किसानों का कहना है की किसी भी चीनी मिल ने दरों की घोषणा नहीं की है। जिले के किसानों की नजर गन्ना दरों पर है। कुछ किसानों ने बाहरी जिले के मिलों से संपर्क करना शुरू किया है। पिछलें दो- तीन सालों से सूखे के कारण जिले को गन्ने की कमी का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि, इस साल जिले में अच्छी बारिश हुई है, जिससे गन्ने का रकबा भी बढ़ गया है। इसिलए, जिले की अधिकांश चीनी मिलें इस पेराई सीजन में शुरू हो रही है। कई मिलों ने बॉयलर शुरू किये है। इसके अलावा, इस साल फिर से बारिश होने के कारण अगले साल भी गन्ने की पैदावार अच्छी होगी। लातूर जिले के कुछ मिलों ने उस्मानाबाद की मिलों में गन्ना स्थानांतरित करना शुरू किया है। इसिलए, इस साल एक बार फिर से गन्ने की कीमतों में प्रतिस्पर्धा देखी जा सकती है।

उत्पादन फिर से बढने की उम्मीद….

अच्छी बारिश से किसान काफी खुश है। नदी और झील क्षेत्रों में पर्याप्त पानी की तस्वीर बनी हुई है। इस तस्वीर को देखकर ऐसा लगता है की, किसान इस साल गन्ने के विकल्प को स्वीकार करेंगे। खरीप फसल कटाई की शुरु हो चुकी है। इस कटाई के बाद गन्ने की बुआई का फैसला कई किसानों द्वारा लिया गया है। जिले में जहाँ जल भंडार में वृधि हुई है, वहाँ के किसानों ने गन्ने को प्राथमिकता देने का फैसला किया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here