पाकिस्तान: महंगी चीनी से उपभोक्ता परेशान

149

कराची: कराची में पिछले सप्ताह चीनी की खुदरा कीमत 105-110 रुपये प्रति किलोग्राम थी, जबकि लाहौर में उपभोक्ताओं को 85 -90 रुपये प्रति किलो के मुकाबले 93-100 रुपये प्रति किलो का भुगतान करना पड़ रहा है। इसी तरह, क्वेटा में पिछले सप्ताह के 95-97 रुपये की तुलना में 105-106 रुपये प्रति किलोग्राम पर चीनी खरीदनी पड़ रही है। मुल्तान में, चीनी की कीमत 4 मार्च को 95-96 रुपये की तुलना में 95-96 रुपये प्रति किलोग्राम के बीच थी और उसके बाद बहावलपुर में 100 रुपये प्रति किलोग्राम थी ।कराची रिटेल ग्रॉसर्स ग्रुप (KRGG) के महासचिव फरीद कुरैशी ने कहा कि, चीनी की थोक दर 97 रुपये प्रति किलो है। लेकिन कराची थोक व्यापारी ग्रॉसर्स एसोसिएशन (केडब्ल्यूजीए) अनीस मजीद ने कहा कि, थोक दर प्रति किलोग्राम 94 है और खुदरा व्यापारी प्रति किलो 105-110 रुपये का शुल्क लगाकर पैसे कमा रहे हैं।

मजीद ने सरकार को चीनी सहित वस्तुओं की कीमतों के कुप्रबंधन के लिए भी दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि, पिछले साल की सरकार की चीनी और गेहूं संकट से संबंधित जांच रिपोर्ट के बावजूद किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई, जबकि जमाखोरों से दोनों नकदी फसलों की कोई मात्रा बरामद नहीं हुई। ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन ऑफ पाकिस्तान (टीसीपी) ने पंजाब, खैबर पख्तूनख्वा और यूटिलिटी स्टोर्स में खपत के लिए अगस्त-नवंबर 2020 तक 130,000 टन चीनी का आयात किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here