पाकिस्तान सरकार का चीनी आयात बढ़ाने का फैसला

289

इस्लामाबाद: सरकार ने व्यापार निगम पाकिस्तान (टीसीपी) के माध्यम से रणनीतिक भंडार के रूप में 0.5 मिलियन टन के पिछले लक्ष्य के बजाय 0.6 मिलियन मीट्रिक टन (एमएमटी) चीनी आयात करने का निर्णय लिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, टीसीपी के माध्यम से चीनी का आयात किया जाना है, और चालू सीजन के दौरान 500,000 मीट्रिक टन के बजाय 600,000 मीट्रिक टन आयात होगा। पाकिस्तान सांख्यिकी ब्यूरो द्वारा प्रकाशित आंकड़ों से पता चला है कि चीनी की कीमत जनवरी, 2021 के महीने के बाद बढ़ रही थी और अभी भी एक ऊपर की ओर रुझान दिखा रही थी जो आम जनता के लिए कठिनाई पैदा कर रही है।

प्रधान मंत्री इमरान खान ने चीनी की बढ़ती कीमत को गंभीरता से लेते हुए 19 जुलाई, 2021 को हुई एक बैठक के दौरान चीनी पर बिक्री कर को 30 नवंबर, 2021 तक वापस पूर्व-मिल मूल्य पर वापस लाने का निर्देश दिया था। प्रस्तावित संशोधन सरकार द्वारा बिक्री कर अधिनियम 1990 की धारा 3 की उपधारा (2) के खंड (ए) के प्रावधान के तहत अपने विशेष अधिकार के तहत किया गया। चर्चा के दौरान कैबिनेट ने जोर देकर कहा था कि, चीनी की कम कीमत का लाभ उपभोक्ताओं तक पहुंचना चाहिए।

आपको बता दे की, दो दिन पहले कराची बंदरगाह पर 780 चीनी बैग ले जा रहा एक कंटेनर ट्रक ब्रेक फेल होने के बाद समुद्र में गिर गया, लेकिन चालक को कोई चोट नहीं आई। इस दुर्घटना से पाकिस्तान के सरकारी व्यापार निगम को लाखों का नुकसान होगा। एमवी यूनिटी से कंटेनर ट्रक पर चीनी लाद दी गई थी, जो टीसीपी द्वारा खरीदे गए 33,000 टन स्वीटनर के साथ दुबई से केपीटी पहुंचा था।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here