पाकिस्तान: मिलों ने की चीनी के अप्रतिबंधित व्यापार की मांग

197

इस्लामाबाद: ऑल पाकिस्तान शुगर मिल्स एसोसिएशन (APSMA) ने चीनी की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ सरकार द्वारा उठाए गए कदमों को देश के दूसरे सबसे बड़े उद्योग के खिलाफ एक अभियान करार दिया है। चीनी मिल संघ ने चीनी की कीमतों में वृद्धि को नियंत्रित करने के संबंध में सरकार के कदमों का विरोध किया और मांग की कि सरकार को संविधान के तहत देश में चीनी के मुक्त व्यापार की अनुमति देनी चाहिए।

लोकल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, APSMA ने प्रधानमंत्री इमरान खान को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने उनसे मिलने का समय मांगा है, जिसमें कहा गया है कि उनके कार्यालय ने उन्हें अपनी स्थिति स्पष्ट करने का मौका नहीं दिया। पत्र में दावा किया है की, पाकिस्तान के चीनी उद्योग को बदनाम करने के लिए संगठित अभियान चलाया जा रहा है। पत्र में कहा है की, हम आपको देश के दूसरे सबसे बड़े उद्योग के खिलाफ चल रहे अभियान के बारे में सूचित करना चाहते हैं, जिसमें तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here