पाकिस्तान शुगर मिल्स एसोसिएशन ने सरकार द्वारा तय दर पर चीनी आपूर्ति करने से इनकार किया…

314

इस्लामाबाद : पाकिस्तान शुगर मिल्स एसोसिएशन (PSMA) ने सरकार को 63 रुपये दर पर उपयोगिता भंडार (यूटिलिटी स्टोर्स) में चीनी की आपूर्ति करने से इनकार कर दिया है। PSMA का कहना है कि, इस सिफारिश को कोई कानूनी आधार नहीं है। उद्योग और उत्पादन मंत्रालय ने सोमवार को इस्लामाबाद उच्च न्यायालय (IHC) के आदेश के अनुपालन में PSMA को एक पत्र लिखा था। इससे पहले, बुधवार को, एसोसिएशन और जहाँगीर खान तारेन सहित 17 अन्य मिल मालिकों ने इस्लामाबाद उच्च न्यायालय (IHC) में चीनी जाँच आयोग की रिपोर्ट को चुनौती दी थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि आयोग द्वारा आयोजित जांच के दौरान कानूनी औपचारिकताएं पूरी नहीं की गई थीं। आयोग ने अपनी रिपोर्ट में, चीनी मिल मालिकों पर अनुचित मूल्य वृद्धि, बेनामी लेनदेन, कर चोरी, संदिग्ध चीनी निर्यात सौदों, अवैध बिजली उत्पादन, सब्सिडी के दुरुपयोग और गन्ने की खरीद के जरिए करोड़ों-अरबों रुपये के अवैध लाभ अर्जित करने का आरोप लगाया है।

उद्योग और उत्पादन मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि, पीएसएमए को यूटिलिटी स्टोर्स को 63 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से चीनी उपलब्ध करानी चाहिए, ताकि वह उपभोक्ता को 70 रूपये प्रति किलोग्राम पर बेच सके, जैसा कि आईएचसी द्वारा निर्देशित किया गया है। रविवार को मंत्रालय के जवाब में लिखे गए एक पत्र में, PSMA ने कहा था कि, वह अंतरिम अदालत के आदेश के तहत चीनी को 70 रुपये प्रति किलोग्राम की आपूर्ति करने के लिए सहमत है।एसोसिएशन ने कहा, हम घरेलू उपयोग के लिए गैर-वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों को 70 रुपये प्रति किलो की दर से चीनी देने के लिए तैयार हैं। लगभग 60,000 टन चीनी को बाजारों में पहुंचाया जाएगा। PSMA ने कहा कि, अदालत के आदेश के तहत, सरकार उस दर पर चीनी की खरीद की व्यवस्था कर सकती है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here