पाकिस्तान: मिलों पर ऊंचे दामों पर चीनी बेचने का आरोप

256

लाहौर: पाकिस्तान के पंजाब सरकार ने मिलों पर चीनी को ऊंचे दामों पर बेचने का आरोप लगाया है।प्रांतीय गन्ना आयुक्त के अनुसार, चालू गन्ना पेराई सत्र के दौरान प्रांत में 16 लाख टन चीनी का उत्पादन किया गया है। उन्होंने कहा कि, देश में चीनी का पर्याप्त भंडार है। हालांकि, चीनी की कीमत उत्पादन लागत के अनुरूप नहीं है। चीनी मिलों का यह आग्रह पूरी तरह गलत है कि वे किसानों से 300 रुपये पर 40 किलोग्राम गन्ना खरीद रहे हैं।

चीनी मिलों द्वारा 31 दिसंबर, 2021 को प्रस्तुत किए गए आंकड़ों के अनुसार, गन्ने का उनका खरीद मूल्य 244 रूपये प्रति 40 किलोग्राम है। उन्होंने कहा कि ,चीनी मिलों द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के अनुसार, वे 40 किलो गन्ने से साढ़े चार किलोग्राम चीनी का उत्पादन कर रहे हैं। हालांकि, उन्होंने दावा किया कि गन्ना आयुक्त द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट के अनुसार, चीनी मिलें 40 किलोग्राम गन्ने से पांच किलोग्राम से अधिक चीनी का उत्पादन कर रही हैं। चीनी के इस तरह के उत्पादन को ध्यान में रखते हुए उन्होंने कहा कि बाजार में चीनी की मौजूदा कीमत बहुत अधिक नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि, चीनी मिल मालिकों की जिम्मेदारी है कि वे चीनी को उचित मूल्य पर बेचें।

गन्ना आयुक्त ने इस बात पर भी जोर दिया कि चीनी मिलों के समर्थन के बिना चीनी की जमाखोरी को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि, पंजाब चीनी आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन आदेश 2021 के अनुसार, चीनी मिलें गन्ना आयुक्त के कार्यालय को चीनी बिक्री के आंकड़े उपलब्ध कराने के लिए बाध्य हैं।हालांकि, वे कानून के प्रावधान का पालन नहीं कर रहे हैं। उन्होंने चीनी मिल मालिकों से एक सप्ताह के भीतर चीनी बिक्री के आंकड़े उपलब्ध कराने को कहा अन्यथा उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here