महंगाई की मार: पाकिस्तान करेगा 300000 टन चीनी आयात

201

इस्लामाबाद : पाकिस्तान तहरीक इंसाफ (पीटीआई) सरकार ने चीनी की बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने के लिए 300,000 टन चीनी का आयात करने का फैसला किया है। चीनी की बढती कीमतें बाजार में दवाब बना रही है, और जिससे आम पाकिस्तानी नागरिक काफी परेशान है। खबरों के मुताबिक, चीनी सलाहकार बोर्ड (SAB/ एसएबी) की एक बैठक में कुछ दिन पहले निर्णय लिया गया था। इसके बाद उद्योग मंत्रालय और उत्पादन मंत्रालय ने पाकिस्तान के ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन (टीसीपी) से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि, चीनी के रणनीतिक भंडार को बनाए रखने के लिए 300,000 टन रिफाइंड चीनी का आयात किया जाए।

पाकिस्तान सांख्यिकी ब्यूरो (पीबीएस) के अनुसार वर्तमान में, 30 जनवरी 2019 तक चीनी का औसत खुदरा मूल्य 79.06 रूपये किलोग्राम है। सरकार ने महंगाई काबू में करने के लिए चीनी निर्यात कोटा बंद करने का भी फैसला किया है, और ‘एसएबी’ ने वाणिज्य मंत्रालय को इसके लिए जल्द से जल्द ‘ईसीसी’ से संपर्क करने का निर्देश दिया है। चीनी सलाहकार बोर्ड की बैठक के दौरान पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा सरकारों के प्रतिनिधियों ने खुलासा किया कि, पिछले वर्ष में गन्ने के उत्पादन में समग्र गिरावट के कारण, वर्तमान पेराई सत्र में चीनी का उत्पादन कम होने की उम्मीद है। वर्तमान में पेराई सत्र चल रहा है, बावजूद इसके राष्ट्रीय औसत खुदरा कीमतें लगातार ऊपर की ओर बढ़ रही हैं। आयातित चीनी घरेलू चीनी की तुलना में सस्ता है और इस स्थिति को ध्यान में रखते हुए उद्योग और उत्पादन मंत्रालय ने ‘टीसीपी’ को चीनी के रणनीतिक भंडार को बनाए रखने के लिए 300,000 टन परिष्कृत चीनी आयात करने के लिए कहा है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here