भारत और बांग्लादेश के बीच व्यापार, निवेश संबंधों को बढ़ावा देने के तरीकों पर चर्चा

51

नई दिल्ली : भारत-बांग्लादेश संयुक्त सलाहकार आयोग के 7 वें दौर के मौके पर, केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ एके अब्दुल मोमेन के साथ व्यापार और निवेश संबंधों को बढ़ावा देने के तरीकों पर चर्चा की। मंत्री गोयल ने ट्विटर पर लिखा, दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों को और बढ़ावा देने के लिए द्विपक्षीय व्यापार और निवेश को बढ़ाने के तरीकों की खोज पर चर्चा हुई। विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने रविवार को भारत-बांग्लादेश संबंधों पर विश्वास व्यक्त किया और कहा कि भारत साइबर सुरक्षा और रेलवे प्रणाली के उन्नयन सहित नए क्षेत्रों में सहयोग करने के लिए तत्पर हैं।

मंत्री जयशंकर ने दोनों देशों के बीच साझेदारी में ऐतिहासिक उपलब्धियों पर भी विस्तार से बात की। दोनों देशों के बीच व्यापार संबंधों पर बोलते हुए, जयशंकर ने कहा, आज बांग्लादेश हमारा सबसे बड़ा विकास भागीदार है, यह इस क्षेत्र में हमारा सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है। विदेश मंत्री जयशंकर ने यह भी कहा कि, भारत नए क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ावा देने के लिए तत्पर है, इसलिए अब हम अपने संबंधों को नए डोमेन- आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, साइबर सुरक्षा, स्टार्टअप, फिनटेक तक ले जाने के लिए आपके साथ काम करने के लिए तत्पर हैं। इस बीच भारत-बांग्लादेश जेसीसी बैठक में बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने कहा कि, दोनों देशों के रिश्ते आपसी विश्वास पर आधारित हैं. उन्होंने भारत को “सबसे महत्वपूर्ण पड़ोसी” कहा। अब्दुल मोमेन ने कहा कि, भारत बांग्लादेश का सबसे महत्वपूर्ण पड़ोसी है। दोनों देशों द्वारा की गई पहलों ने हमें पूरे क्षेत्र में स्थिरता और विकास हासिल करने में मदद की है। बांग्लादेश-भारत संबंध आपसी विश्वास और सम्मान पर आधारित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here