कोरोनावायरस इफेक्ट: निर्यात अवसरों पर चर्चा करने के लिए मंत्री पीयूष गोयल करेंगे निर्यातकों के साथ बैठक

199

नई दिल्ली : चीनी मंडी

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने चीन में कोरोनावायरस फैलने के कारण निर्यात और आयात के अवसरों पर चर्चा करने के लिए 3 मार्च को निर्यातकों और उद्योग की बैठक बुलाई है। बैठक की अध्यक्षता वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल करेंगे।

खबरों के मुताबिक, चूंकि चीन विविध प्रकार के उत्पाद का वैश्विक आपूर्तिकर्ता था, और चीन और दुनिया के अन्य हिस्सों में इस घातक बीमारी के प्रकोप के कारण भारी निर्यात और आयात के अवसर पैदा हुए हैं। कोरोनावायरस बीमारी के प्रकोप ने यह दर्शाया है कि, किसी भी उत्पाद के लिए पूरी तरह से किसी एक देश पर निर्भर रहना अच्छी बात नहीं है और ऐसी स्थिति में, भारत को इस वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला के गैप को पूरा करने का अच्छा अवसर मिला है। वाणिज्य मंत्रालय के एक विश्लेषण के अनुसार, ऐसे कई 550 उत्पाद हैं, जहां भारतीय निर्यातक वैश्विक आपूर्ति गैप को पूरा कर सकते हैं। वर्तमान में, इन वस्तुओं के निर्यात का अनुमान 243 बिलियन अमरीकी डॉलर है। इसके अलावा 1,054 उत्पादों की पहचान की गई है जहां भारत चीनी आयात पर निर्भर है।

विश्लेषण में, मंत्रालय ने वैकल्पिक देशों की पहचान की है, जहां से चीन में कोरोनावायरस फैलने से बाधित उत्पादों का आयात कर सकती है। मंत्रालय ने भारत में बने उत्पादों की इस सूची को साझा किया है, जिसका उपयोग दूतावासों के साथ वैश्विक आपूर्ति गतिरोध को काफ़ी हद तक किया जा सकता है। चीन के घातक कोरोनावायरस में मरने वालों की संख्या बढ़कर 2900 के ऊपर हो गई है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here