कर्नाटक: चीनी मिल को पुनर्जीवित करने की योजना…

241

उडुपी, कर्नाटक: ब्रह्मवार सहकारी चीनी मिल को पुनर्जीवित करने के लिए, NMAM इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के विशेषज्ञों के एक समूह ने अध्ययन किया है। विशेषज्ञों ने मिल को पुनर्जीवित करने पर प्रबंधन समिति के साथ चर्चा की। विशेषज्ञों की टीम में कॉलेज के मैकेनिकल विभाग के प्रमुख डॉ शशिकांत, डॉ रवींद्र, डॉ मुरलीधर, डॉ ग्रैनियल डी’मेलो और अन्य शामिल थे।

अध्यक्ष बाइकाड़ी सुप्रसाद शेट्टी ने कहा, विशेषज्ञ जनता के साथ भी बातचीत करेगी और 2004 में बंद की गई मिल को फिर से शुरू करने पर राय जुटाकर अंतिम फैसला लिया जाएगा। शेट्टी ने कहा कि, मिल को पुनर्जीवित करने के प्रयासों के तहत, उडुपी और दक्षिण कन्नड़ जिलों में 2,000 एकड़ भूमि पर गन्ने की खेती को बढ़ावा देने की योजना है। उन्होंने कहा कि, किसानों की एक बैठक बुलाई जाएगी और उन्हें गन्ने की खेती करने और मिल के पुनरुद्धार में मदद करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

शिवमोग्गा के सांसद बी वाई राघवेंद्र ने कहा कि, मिल के पुनरुद्धार के लिए प्रबंधन द्वारा की गई योजना के समर्थन के लिए सभी उपाय किए जाएंगे। मिल अध्यक्ष बैकिदी सुप्रसाद शेट्टी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने सांसद से मुलाकात की और उन्हें मिल की स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने कहा था कि, मिल के पुनरुद्धार के लिए केंद्र और राज्य सरकारों से वित्तीय सहायता की आवश्यकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here