प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा इथेनॉल 21वीं सदी के भारत की प्राथमिकता

361

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर किसानों से बातचीत की। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय और पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने इस मौके पर किसानों के साथ बातचीत की और इथेनॉल और बायोगैस के उपयोग के उनके अनुभवों को सुना।

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने इथेनॉल को 21वीं सदी के भारत की प्राथमिकता बताई। अपने संबोधन से पहले प्रधानमंत्री ने देश के अलग-अलग राज्यों के किसानों से इथेनॉल पर भी बात की।

इस कार्यक्रम के दौरान, प्रधानमंत्री भारत में 2020-2025 के दौरान इथेनाल सम्मिश्रण से संबंधित रोडमैप के बारे में विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट जारी की। उन्होंने काका कहा कि 7-8 साल पहले भारत में इथेनॉल पर ज्यादा चर्चा नहीं होती थी, लेकिन अब इथेनॉल पर ज्यादा फोकस है। यह पर्यावरण के साथ-साथ किसानों के जीवन की भी मदद कर रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा इथेनॉल उत्पादन से कई सारे समाधान होंगे। भारत के तेल आयात पर खर्चा कम होगा, और चीनी मिलों को आर्थिक समस्या से भी छुटकारा मिलेगा और साथ ही साथ गन्ना किसानों का भुगतान भी समय पर होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here