इथेनॉल सम्मिश्रण नीति: प्रधानमंत्री कल गन्ना किसान और चीनी उद्योग के हितधारकों को करेंगे संबोधित

219

नई दिल्ली: 5 जून को जागतिक पर्यावरण दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की ‘इथेनॉल सम्मिश्रण नीति’ पर गन्ना किसान, चीनी उद्योग से जुड़े लोग, मिलों के कार्यकारी निदेशक, महाप्रबंधक आदि को ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस के जरिये संबोधित करेंगे। उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा देश के सभी चीनी मिलें, डिस्टलरीज को यह जानकारी दे दी गई है।

केंद्र सरकार ने 20 प्रतिशत इथेनॉल समिश्रण का लक्ष्य रखा है। सरकार का महंगे तेल आयात पर भारत की निर्भरता को कम करने के लिए 2023 तक पेट्रोल के साथ 20 प्रतिशत इथेनॉल-मिश्रण प्राप्त करने का लक्ष्य है। सरकार के इस फैसले से चीनी उद्योग को बड़ा फायदा होगा, क्योंकि उन्हें अधिशेष चीनी और राजस्व तरलता की समस्या से छुटकारा मिलेगा। मिलें, किसानों का बकाया भुगतान भी मिलें समय पर कर सकती है। जिससे देश के किसान भी लाभान्वित होंगें। 20 फीसदी इथेनॉल संमिश्रण के लिए इस क्षेत्र में लगभग 40 हजार करोड़ रुपये इन्वेस्टमेंट आएंगे। इससे इस क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढने की संभावना है। इस सभी मुद्दों पर बात करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी सुबह 11 बजे ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस के जरिये जुड़ेंगे।

आप इस प्रोग्राम को लाइव DD चैनल या DD न्यूज लाइव के यूट्यूब चैनल पर देख सकते है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here