निजी क्षेत्र की चीनी मिलें सॉफ्ट लोन के जरिए करेंगी गन्ना भुगतान

860

 

सिर्फ पढ़ो मत अब सुनो भी! खबरों का सिलसिला अब हुआ आसान, अब पढ़ना और न्यूज़ सुनना साथ साथ. यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

बागपत : चीनी मंडी

उत्तर प्रदेश में निजी क्षेत्र की चीनी मिलों ने सॉफ्ट लोन के जरिये किसानों का भुगतान दिलाने की तैयारी तेज कर दी। मलकपुर, शामली समेत प्रदेश की निजी क्षेत्र की बकाएदार मिलों से 10 फरवरी तक भुगतान कराया जा सकता है। मलकपुर चीनी मिल पर पिछले पेराई सत्र के 210 करोड़ रुपये बकाया है। प्रदेश के किसानों के कुल 1100 करोड़ रुपये निजी क्षेत्र की मिलों पर बकाया है।

मलकपुर, शामली के अलावा राणा और वेव ग्रुप की चीनी मिलों पर बकाया भुगतान है। पेराई सत्र 2017-18 के मलकपुर चीनी मिल पर करीब 210 करोड़ रुपये बकाया है।  गन्ना आयुक्त ने चीनी मिल की आरसी जारी कर दी है। इसके अलावा किसान की तहरीर पर मुकदमा भी दर्ज किया गया था।

सॉफ्ट लोन के लिए पहले 30 नवंबर की तिथि तय की। इसके बाद इसे बढ़ाकर दस दिसंबर कर दिया। मलकपुर मिल फाइल पूरी नहीं कर सकी, जिस कारण भुगतान नहीं मिला। दोबारा से लोन की प्रक्रिया शुरू करने की तैयारी है।  प्रदेश के गन्ना राज्यमंत्री सुरेश राणा का कहना है कि, 10 फरवरी तक भुगतान कराए जाने की तैयारी है। मलकपुर चीनी मिल पर 460 करोड़ रुपये बकाया था। चीनी मिल ने अब तक 250 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया है, 210 करोड़ रुपये बकाया है। 51 करोड़ रुपये का ब्याज भी जोड़े तो कुल बकाया भुगतान 261 करोड़ है।

डाउनलोड करे चीनीमंडी न्यूज ऐप:  http://bit.ly/ChiniMandiApp  

SOURCEChiniMandi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here