संजीवनी चीनी मिल मामलें में जांच होनी चाहिए: पूर्व उप मुख्यमंत्री ढवलीकर

137

पोंडा, गोवा: संजीवनी चीनी मिल के चालू होने को लेकर फ़िलहाल कोई स्पष्टता नहीं है लेकिन इस बिच मिल में पैसे की हेराफेरी का आरोप लगाया जा रहा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक, मडकई विधायक और पूर्व उप मुख्यमंत्री रामकृष्ण धवलिकर ने आरोप लगाया है कि, 2016 से संजीवनी चीनी मिल में 19 करोड़ रुपये के धन की हेराफेरी की गई है और इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए।

पत्रकारों से बात करते हुए, पूर्व उप मुख्यमंत्री ढवलीकर ने कहा कि, किसानों को कर्नाटक के धारवाड़ में लैला शुगर मिल द्वारा भुगतान की गई गन्ने की राशि नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि, गन्ने की कटाई के लिए मंजूर किये गये 4 करोड़ रुपये किसानों को नहीं मिले हैं। ढवलिकर ने कहा की, सरकार ने मिल के तत्कालीन प्रबंध निदेशक को भी निलंबित कर दिया था। अब, इस मामले में वास्तविक अपराधी कौन थे, यह पता लगाने के लिए एक जांच की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here