उत्तर प्रदेश में सैनिटाइजर का उत्पादन युद्ध स्तर पर जारी

301

लखनऊ: मा. मुख्य मंत्री, योगी आदित्यनाथ द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना केे प्रदेश तथा देश में सामुदायिक प्रसार को रोकने व इस महामारी को समूल रूप से नष्ट करने के संकल्प को साकार करने के लिए प्रदेश के आबकारी तथा चीनी उद्योग एंव गन्ना विकास विभाग द्वारा सैनिटाइजर का पर्याप्त उत्पादन करते हुये प्रदेश मे सेनेटाईजर की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने एंव सैनिटाइजर रूपी गंगा का प्रवाह अन्य राज्यों की ओर करने का भी भागीरथ प्रयास किया गया है।

इस संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान करते हुए आयुक्त गन्ना एवं चीनी श्री संजय आर. भूसरेड्डी द्वारा बताया गया कि कोरोना का विश्वव्यापी संक्रमण बढ़ने पर भारत में भी राजकीय कार्यालयों, निजी संस्थाओं, अस्पतालों आदि जगहों पर हैंड सेनेटाइजर का प्रयोग बढ़ गया था इस कारण से उत्तर प्रदेश के साथ-साथ अन्य प्रदेशों गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश आदि प्रदेशों में भी सैनिटाइजर की डिमांड बढ़ गयी, जिसके दृष्टिगत तत्काल निर्णय लेते हुए प्रदेश की चीनी मिलों में स्थित आसवनियों ;द्वारा सैनिटाइजर उत्पादन शुरू कराया गया, सैनिटाइजर निर्माण करने वाली इकाईयों को लाइसेन्स प्रदान किये गये तथा इन इकाईयों एवं चीनी मिलों के माध्यम से शुरुआत में साठ हजार लीटर सेनेटाइजर रोज बनाने का लक्ष्य रखा गया जो अब बढ़कर दो लाख लीटर प्रतिदिन हो गया है. वर्तमान में 85 चीनी मिलें, 12 डिस्टिलरी, 37 सेनेटाइजर बनाने वाली कंपनियां और 09 अन्य संस्थायें सेनेटाइजर का उत्पादन कर रही हैं। प्रदेश में अब तक 39,10,300 लीटर सैनिटाइजर का कुल उत्पादन जा किया चुका है तथा प्रदेश की समस्त इकाईयों द्वारा 29,79,700 लीटर सैनिटाइजर उत्पादन कर मार्केट में सप्लाई कर दिया गया है तथा अभी भी 33,77,500 सेैनिटायइजर के पैक्स बिक्री हेतु उपलब्ध है।

श्री भूसरेड्डी ने यह भी बताया कि उत्तर प्रदेश में बना सेनेटाइजर की देश के कई राज्यों को आपूर्ति की जा रही है जिनमें जम्मू एवं कश्मीर को 3,705 ली., पंजाब-30,095 ली., उत्तराखण्ड-60,644 ली., चंडीगढ़-2,765 ली., हरियाणा-4,11,445 ली., दिल्ली-2,46,004, ली., राजस्थान-25,543 ली., गुजरात-59,637 ली., बिहार-28,710ली., मध्यप्रदेश-18,916 ली., झारखण्ड-13,751 ली.,छत्तीसगढ़-3,254ली., ओड़ीशा-12,805 ली., महाराष्ट्र-2,89,350 ली., तेलंगाना-12,726 ली., कर्नाटक-71,510 ली.,तमिलानाडू-25,898 ली., केरल-2,545 ली., पश्चिमी बंगाल-23,016 ली., दादरा तथा नगर हवेली 60,000 ली,. तथा पूर्वोत्तर भारत के राज्यों में असम-22,606 ली., मेघालय 9,890 ली., तथा नागालैण्ड को 620 ली. की आपूर्ति अब तक की जा चुकी है ।

उक्त के अतिरिक्त कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने के लिए लगातार प्रयासरत विभिन्न शासकीय महकमों यथा-जिला प्रशासन, पुलिस, नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों को निःशुल्क सैनिटाइजर की आपूर्ति भी की जा रही है, साथ ही प्रदेश में स्थित चीनी मिलों के माध्यम से उनके निकटवर्ती सभी सरकारी कार्यालयों एवं सार्वजनिक स्थानों का सैनिटाइजेशन भी कराया जा रहा हैै,जिसके तहत अब तक ढाई हजार से अधिक गांव लगभग दो सौ कस्बों, तथा सत्रह सौ संस्थाओं को विसंक्रमित किया गया है । जिससे कोरोना महामारी को रोकने में निश्चित रूप से सहायता मिलेगी और क्षेत्र में कार्य कर रहे उपर्युक्त वर्णित विभागों के फ्रन्ट लाइन अधिकारियों एवं कर्मचारियों की स्वास्थ्य की सुरक्षा भी सुनिश्चित हो सकेगी।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here