गन्ना बकाया भुगतान को लेकर तेज हो सकता है विरोध प्रदर्शन

191

लखनऊ : अगला गन्ना सीजन निकट ही है लेकिन अब तक उत्तर प्रदेश में पूर्ण बकाया का भुगतान नहीं हो पाया है, जिसके चलते किसानों में आक्रोश है और अब राष्ट्रीय लोकदल (RLD) भी किसानों के साथ खड़ी हो चुकी है।

RLD के नेताओं ने विरोध और धरना प्रदर्शन कर के गन्ना किसानों की दुर्दशा को उजागर करने का फैसला किया है।

एक नेता ने कहा, “पूरे उत्तर प्रदेश में विरोध प्रदर्शन शुरू करने से, RLD नेताओं को उपचुनाव में राजनीतिक लाभ मिलने की उम्मीद है।” उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों को सरकार के वजह से काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

“लोकसभा चुनावों के समय, भाजपा नेताओं ने किसानों से संबंधित मुद्दों को हल करने का वादा किया था ताकि उनके वोट मिल सकें। चुनावों के बाद, उन्होंने इस मुद्दे को भूल गए। हम किसानों के लिए लड़ेंगे, ” RLD नेता ने कहा।

रणनीति के तहत, नेताओं को विभिन्न जिलों में “कुशासन” को उजागर करने और किसानों को प्रेरित करने के लिए बैठकें, ‘नुक्कड़ सभा’ ​​और ‘चौपाल’ आयोजित करने के लिए कहा जा सकता है।

RLD के मीडिया प्रभारी जावेद अहमद ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा की, “गन्ना उत्पादक किसानों का अभी भी लगभग 800 करोड़ रुपये बकाया है। भाजपा सरकार गन्ना किसानों की समस्याओं का समाधान करने में विफल रही है। पिछले वित्त वर्ष में, सरकार का फैसला गन्ना किसानों की तुलना में मिल मालिकों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से किया गया था।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने पिछले साल पश्चिम यूपी में किसानों की दुर्दशा को उजागर करने के लिए बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया था। “इस बार भी, हम किसानों के लिए लड़ने की रणनीति बनाने जा रहे हैं।

अहमद ने कहा कि RLD के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी 31 अगस्त को लखनऊ में पार्टी के मुख्यालय में एक बैठक करेंगे। RLD के पदाधिकारी बैठक में हिस्सा लेंगे। बैठक में किसानों, गन्ना किसानों, बेरोजगारी और विकास से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here