पंजाब: किसानों ने गन्ना भुगतान समेत अन्य मांगो को लेकर प्रस्तावित धरना वापस लिया

60

चंडीगढ़ : पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा गन्ना किसानों के लंबित भुगतान सहित उनकी अधिकांश मांगों को स्वीकार करने के बाद कई किसान संगठनों ने तीन अगस्त का अपना प्रस्तावित आंदोलन वापस लेने का फैसला किया। मुख्यमंत्री मान ने मंगलवार को भारतीय किसान यूनियन (Sidhupur) के अध्यक्ष जगजीत सिंह दल्लेवाल के नेतृत्व में किसान नेताओं के साथ बैठक की। राज्य सरकार गन्ना बकाया भुगतान नहीं करने सहित उनके मुद्दों को हल करने में विफल रहने पर किसानों ने पहले तीन अगस्त को राज्य में माझा, मालवा और दोआबा में राष्ट्रीय राजमार्गों को अवरुद्ध करने की घोषणा की थी। बैठक के बाद, मान ने कहा, मैं किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध हूं, और मेरे कार्यकाल के दौरान उन्हें अपनी वास्तविक मांगों के लिए विरोध प्रदर्शन नहीं करना पड़ेगा। मान ने कहा कि, गन्ना बकाया 195.60 करोड़ रुपये है और इसमें से 100 करोड़ रुपये 15 अगस्त तक और शेष 95.60 करोड़ रुपये 7 सितंबर तक चुका दिए जाएंगे।

उन्होंने आगे कहा कि सरकार और सहकारी चीनी मिलों के लंबित भुगतान को 7 सितंबर तक मंजूरी दे दी जाएगी। मान ने कहा कि, फगवाड़ा चीनी मिल को छोड़कर निजी चीनी मिलों ने 7 सितंबर तक बकाया भुगतान करने का आश्वासन दिया है। फगवाड़ा चीनी मिल का किसानों का 72 करोड़ रुपये बकाया है और इसकी जमीन की नीलामी के बाद 20 करोड़ रुपये की वसूली की जाएगी। मान ने कहा कि,राज्य सरकार किसानों के पराली जलाने के सभी मामलों को वापस लेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here