जमाखोरी को रोकने के लिए राजस्थान सरकार द्वारा खुद सैनिटाइजर्स बनाने का फैसला; ली जायेगी चीनी मिल की सहायता

197

जयपुर: राजस्थान सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान जमाखोरों के कालाबाजारी को रोकने के लिए अगले कुछ महीनों तक खुद सैनिटाइजर्स बनाने का फैसला किया है ताकि राज्य में हैंड सैनिटाइजर्स की कमी न हो। इस काम के लिए राज्य सरकार ने गंगानगर चीनी मिलों की सभी इकाइयों सहित चार और निजी कंपनियों को हैंड सैनिटाइजर्स बनाने के आर्डर और लाइसेंस जारी किये हैं।

एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि राज्य सरकार ने यह फैसला जमाखोरों द्वारा सैनिटाइजर्स की भारी मांग को देखते हुए होर्डिंग करने और उसकी कालाबाजारी करने से रोकने के लिए किया है। उन्होंने कहा कि हमारे खुद के उत्पादन वाले सैनिटाइजर्स लोगों को किफायती दर से उपलब्ध कराई जाएगी।

राज्य के फाइनेंस डिपार्टमेंट द्वारा जारी आर्डर के मुताबिक राजस्थान के पांच लीकर मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को सैनिटाइजर्स के उत्पादन के लिए लाइसेंस दिया गया है। इनमें गंगानगर चीनी मिलों की पांच इकाइयां झोटवाड़ा (जयपुर), मंडोर (जोधपुर), कोटा, उदयपुर और हनुमानगढ़ शामिल हैं। इनके अलावा चार निजी कंपनियों को भी सैनिटाइजर्स बनाने के लिए लाइसेंस जारी किए गए हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here