गन्ना किसानों के बकाया भुगतान की दिशा में कार्रवाई करने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश दिए गए: रामविलास पासवान

211

नई दिल्ली: कोरोना संकट ने ना ही सिर्फ चीनी मिलें, व्यापारी, बल्कि गन्ना किसानों की भी चिंता बढ़ाई है। सरकार भी गन्ना किसानों को जल्द से जल्द भुगतान चुकाया जाए इस पर काम कर रही है।

आज केंद्रीय खाद्य उपभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान ने सचिव एवं अन्य अधिकारियों के साथ चीनी के उत्पादन, गन्ना किसानों के बकाया भुगतान, इथेनॉल उत्पादन जैसे विषयों पर समीक्षात्मक बैठक की। उन्होंने कहा की इस सीजन 270 लाख टन चीनी का उत्पादन संभावित है। आज हुई बैठक में पासवान ने गन्ना बकाया भुगतान के स्थिति के बारे में अधिकारियों से जाना और बकाया भुगतान की दिशा में कार्रवाई करने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश दिए।

उन्होंने यह जानकारी ट्विटर पर भी साझा की। पासवान ने ट्वीट में कहा, “आज सचिव एवं अन्य अधिकारियों के साथ चीनी के उत्पादन, गन्ना किसानों के बकाया भुगतान, इथेनॉल उत्पादन जैसे विषयों पर समीक्षात्मक बैठक की। इस साल 270 लाख टन चीनी का उत्पादन संभावित है। बैठक में गन्ना किसानों के बकाया भुगतान की दिशा में कार्रवाई करने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश दिए।”

फिलहाल, देश भर की चीनी मिलों ने 1 अक्टूबर 2019 से 31 मई 2020 के बीच 268.21 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। यह पिछले साल 31 मई 2019 तक उत्पादित 327.53 लाख टन से 59.32 लाख टन कम है। 31 मई 2019 को गन्ने की पेराई करने वाली 10 चीनी मिलों की तुलना में, इस वर्ष 31 मई 2020 को 18 चीनी मिलें गन्ने की पेराई कर रही हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here