कर्नाटक: गन्ना किसानों ने हेमवती चीनी मिल को शुरू करने के लिए दी 30 सितंबर की डेडलाइन

246

कर्नाटक: चन्नारायणपटना तालुका के श्रीनिवासपुरा में हेमवती चीनी मिल के सामने कांग्रेस कार्यकर्ताओं और गन्ना उत्पादकों ने सोमवार को धरना देकर मिल जल्द से जल्द शुरू करने की मांग की। जनवरी 2016 से मिल बंद है, जिससे इस क्षेत्र के हजारों गन्ना किसानों को पेराई के वक़्त परेशानीयों का सामना करना पड़ता है।प्रदर्शनकारियों कहना है की 1984 में किसानों के हित में शुरू की गई मिल अपने उद्देश्य की पूर्ति करने में विफल रही थी। मिल की पेराई क्षमता को बेहतर बनाने के लिए प्रबंधन समिति ने मिल को एक निजी संस्था को सौंप दिया। हालांकि, निजी संस्था शर्तों को पूरा करने में विफल रही, इसने वर्षों से किराया नहीं दिया था। जिसके कारण पिछले चार सालों से मिल बंद पड़ी है।

द हिन्दू डॉट कॉम में प्रकाशित खबर के मुताबिक, कांग्रेस एमएलसी एम. ए. गोपालस्वामी ने कहा कि, मिल के बंद होने से किसान समुदाय को कठिनाई हो रही है क्योंकि उन्हें अपना गन्ना अन्य मिलों को भेजना पड़ रहा है। जिससे किसानों का परिवहन खर्च बढ़ गया है, और गन्ना भुगतान भी समय पर नही होता है। उन्होंने कहा की, हम मिल को फिर से शुरू करने की समय सीमा के रूप में 30 सितंबर तारीख को निर्धारित करते है। अगर मिल समय सीमा को पूरा करने में विफल रहता है, तो हम अगले दिन चन्नारायणपटना से हसन में उपायुक्त के कार्यालय तक मार्च नीकालेंगे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here