इथेनॉल पर जीएटी कम करने की मांग

457

मुंबई- आवश्यकता से अधीक चिनी का उत्पादन होने से इथेनॉल उत्पादन पर अधीक ध्यान देना जरूरी हो गया है। लेकीन इथेनॉल पर जीएसटी कम होना जरूरी है। इस संबंध में देश के 6 राज्य से सबंधित वित्तमंत्रीयोंकी सभा 3 जून को मुंबई मे होनी वाली है। चिनी उद्योग जीन समस्याओं से जुज रहा है उस पर चर्चा करने के लिये केंद्रीय परिवहन मंत्री नितीन गडकरी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, महसूल विभाग के मंत्री चंद्रकांत दादा पाटील, सहकार मंत्री सुभाष देशमुख, वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार और चिनी महासंघ के अध्यक्ष दिलिप वळसे पाटील इनके उपस्थित मे यह सभा संपन्न हुयी। इस समय दिलीप वळसे पाटीलजीने चिनी उद्योग के समस्याओं के संदर्भ में एक प्रेझेंटेशन प्रस्तुत किया। इस वक्त चिनी उद्योग को वित्तय संकट से बाहर निकाल करने के लिये इथेनॉल पर लगा 18% जीएसटी कम कर 5% तक लना और चिनी के बजाय इथेनॉल उत्पादन पर अधिक ध्यान देने के साथ कर्ज के बोज तले दबे चिनी उद्योग के कर्ज का पुनर्गठन करना तथा चीनी के दाम के समान रखना इन विषयोंपर इस सभा में विचारविमर्श हुवा।

SOURCEPudhari

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here