उत्तर प्रदेश में चीनी उत्पादन में कमी

644

लखनऊ: यूपी शुगर मिल्स एसोसिएशन (यूपीएसएमए) ने शनिवार को कहा की, चीनी मिलों ने अब तक तक 611 लाख टन गन्ने की पेराई करके 63 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। औसत रिकवरी घटने से उत्तर प्रदेश में इस सीजन में चीनी उत्पादन घटने की संभावना जताई जा रही है। यूपीएसएमए के एक बयान के अनुसार, चीनी मौसम 2020-2021 की शुरुआत अक्टूबर के अंत में हुई और कॉर्पोरेट, सहकारी और राज्य चीनी निगम सहित 120 चीनी मिलों ने पेराई शुरू कर दी। नवंबर मध्य तक लगभग सभी चीनी मिलों ने गन्ना पेराई शुरू कर दी और 12 फरवरी तक चीनी का उत्पादन 611 लाख टन गन्ने की पेराई करके 63 लाख टन चीनी उत्पादन हासिल किया गया।

पिछले वर्ष इसी अवधि में 584 लाख टन गन्ने की पेराई हुई थी और 64 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ था। जबकि पिछले सीजन की इसी अवधि में 10.96 प्रतिशत की तुलना में चालू सीजन के लिए 10.29 प्रतिशत की औसत रिकवरी दर्ज की गई है। चीनी सीजन 2020-2021 की मुख्य बात यह है कि इस सीजन में चीनी की रिकवरी कम रही है। उद्योग के विशेषज्ञों का अनुमान है कि पिछले सीजन की तुलना में रिकवरी 0.50 प्रतिशत कम हो सकती हैं। यूपीएसएमए ने कहा कि, बाजार के मोर्चे पर चीनी की मांग सुस्त है। शादियों के सीजन की मांग में कमी आई है और कोई त्योहार भी नजदीक नहीं है, जिससे चीनी की खरीदारी कम हुई है। चीनी उद्योग ने एक बार फिर अनुरोध किया है कि चीनी का एमएसपी बढ़ाया जाए ताकि मिलें किसानो का बकाया भुगतान कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here