पेट्रोल, डीजल की बढ़ती कीमतों से जल्द राहत संभव

37

वियना : पूरे विश् में तेल की कीमतों में लगी आग को कम करने के लिए ओपेक + के लीडरों ने रविवार को अगस्त से तेल की सप्लाई बढ़ाने पर अपनी सहमति दे दी है। ओपेक + के इस फैसले भारत को सबसे बडी राहत मिलने के आसार दिखाई दे रहें है। पिछले कई महिनों से देशभर में पेट्रोल और डिजल की किंमते आसमान को छू रहीं है, लेकिन अब ओपेक के फैसले के बाद किमतों को ब्रेक लगने की संभावना है।

सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात एक विवाद को हल करने के बाद धीरे-धीरे बाजार में अधिक तेल आपूर्ति जोड़ने पर सहमत हुए। ओपेक प्रतिनिधियों ने कहा कि, कार्टेल अगस्त से हर महीने हर महीने 400,000 बैरल तक उत्पादन को बढ़ा देगा। साथ ही मई 2022 से संयुक्त अरब अमीरात, इराक और कुवैत को उच्च उत्पादन कोटा देने पर ओपेक के सदस्य देश राजी हुए है। कच्चे तेल की कीमतों में पिछले हफ्ते कोविड -19 के डेल्टा संस्करण के प्रसार की आशंकाओं के बीच गिरावट आई थी। अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी ने चेतावनी दी है कि बाजार को ओपेक + से अधिक तेल की आवश्यकता है।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here