यवतमाल: वसंत चीनी मिल के निदेशक मंडल का इस्तीफा…

212

यवतमाल: जिले के उमरखेड तालुका में स्थित वसंत चीनी मिल के निदेशक मंडल ने इस्तीफा दे दिया है। मिल तकरीबन 120 करोड़ रूपयें के कर्ज में डूबी है, निदेशक मंडल के इस्तीफे के बाद हडकंप मच गया है। वसंत चीनी मिल पिछले तीन सीजन से पटरी पे वापस आने के लिए संघर्ष कर रही है। इसलिए सहकारिता के आधार पर कम करने वाली विदर्भ की एकमात्र चीनी मिल वसंत की पहचान अब खो गई है। तीन साल पहले किसानों ने सभी राजनितिक मतभेद भुलाके निदेशक मंडल चुना था। बाद में मिल के अध्यक्ष और पूर्व विधायक माधवराव पाटिल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उनकी जगह भाजपा के माधवराव माने ने ले लिया। माने ने भी मिल शुरू करने के लिए काफी प्रयास किये, उन्हें सर्वदलीय निदेशक मंडल द्वारा समर्थन दिया गया, लेकिन वो भी असफ़ल रहे।

निदेशक मंडल ने बैंक के 120 करोड़ रुपयों में से 20 करोड़ रूपये के कर्ज के पुनर्गठन के लिए मंत्रियों के साथ सहयोग पर चर्चा की थी। सहकारिता मंत्री सुभाष देशमुख ने भी इस कर्जमाफ़ी का प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया था। मिल ने 15 अगस्त को सरकार को कर्जमाफ़ी के लिए प्रस्ताव दिया था, लेकिन उसपर कोई कार्रवाई नही की गई। इस बीच, दो दिन पहले विधानसभा चुनावों के लिए आचारसंहिता की घोषणा के साथ आगामी चीनी सीजन में मिल शुरू होने की संभावना खत्म हो गई। इसलिए मिल के निदेशक मंडल ने इस्तीफा दे दिया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here