खुदरा महंगाई दर नवंबर में बढ़कर 4.91 फीसदी हुई

95

नई दिल्ली: फल और सब्जियों की कीमतें आसमान को छू रही है, और इन बढ़ती कीमतों का सीधा असर खुदरा महंगाई दर के आंकड़ों पर पड़ा है। नवंबर में खुदरा महंगाई दर बढ़कर 4.91 प्रतिशत हो गई है। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित मुद्रास्फीति नवंबर में बढ़कर 4.91 प्रतिशत हो गई, जो पिछले महीने में 4.48 प्रतिशत थी।

हालांकि हाल के महीनों में मुद्रास्फीति में वृद्धि की प्रवृत्ति रही है, लेकिन नवंबर 2021 का आंकड़ा पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान दर्ज किए गए आंकड़े से काफी बेहतर है। नवंबर 2020 में सीपीआई मुद्रास्फीति 6.93 प्रतिशत थी।ग्रामीण इलाकों की तुलना में शहरी क्षेत्रों में मूल्य वृद्धि तेज है। शहरी क्षेत्रों में सीपीआई मुद्रास्फीति नवंबर 2021 में 5.54 प्रतिशत बढ़ी, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में यह 4.29 प्रतिशत थी। अक्टूबर 2021 के दौरान भी शहरी क्षेत्रों में मुद्रास्फीति का दबाव अधिक था। अक्टूबर 2021 में शहरी सीपीआई मुद्रास्फीति 5.04 प्रतिशत थी जबकि ग्रामीण क्षेत्रों के लिए यह 4.07 प्रतिशत थी।

नवंबर के महीने में खाद्य कीमतों में तेज तेजी आई थी। खाद्य कीमतें, जो उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में लगभग आधे का योगदान करती हैं, नवंबर 2021 में सालाना आधार पर 1.87 प्रतिशत बढ़ी, जबकि अक्टूबर 2021 में यह 0.85 प्रतिशत थी। खाद्य तेल की कीमतों में 30 प्रतिशत की वृद्धि हुई। खुदरा ईंधन की कीमतें साल-दर-साल नवंबर में 13.35 फीसदी बढ़ी, जबकि पिछले महीने में यह 14.35 फीसदी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here